नागपुर से लखनऊ पहुंची दूसरी श्रमिक एक्सप्रेस, 950 यात्री 44 बसों से घर रवाना
Nagpur News in Hindi

नागपुर से लखनऊ पहुंची दूसरी श्रमिक एक्सप्रेस, 950 यात्री 44 बसों से घर रवाना
लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन से अपने-अपने जिलों काे रवाना हो रहे मजदूर

लखनऊ (Lucknow) के डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा कि यात्रियों को उनके गंतत्व तक पहुंचाने के लिए 44 बसें लगाई गई थीं. अभिषेक प्रकाश ने कहा कि किसी भी यात्री को कोई समस्या न हो, इसके लिए मैं खुद मौके पर मौजूद हूं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में आज नागपुर (Nagpur) से चली ट्रेन चारबाग रेलवे स्टेशन पर पहुंची. चारबाग स्टेशन पर यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए खुद डीएम अभिषेक प्रकाश मौके पर मौजूद रहे. डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया कि आज दूसरी श्रमिक ट्रेन नागपुर से लखनऊ पहुंची है. इसमें 970 यात्री नागपुर से लखनऊ के चारबाग पहुंचे. इन सभी यात्रियों की क्रमबद्ध तरीके से थर्मल स्कैनिंग कराई गई है. थर्मल स्कैनिंग कराने के बाद उन सभी यात्रियों को यूपी एसआरटीसी (UPSRTC) की बसों द्वारा निशुल्क उनके गंतव्य तक पहुंचाया जा रहा है.

खुद डीएम रख रहे व्यवस्था पर  नजर

डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा कि यात्रियों को उनके गंतत्व तक पहुंचाने के लिए 44 बसें लगाई गई थीं. अभिषेक प्रकाश ने कहा कि किसी भी यात्री को कोई समस्या न हो, इसके लिए मैं खुद मौके पर मौजूद हूं. सभी यात्रियों को क्रमबद्ध तरीके से बसों में बिठाया जा रहा है. उनको भोजन की व्यवस्था जिला प्रशासन की तरफ से कराई जा रही है. बसों में बैठाए जाने के समय उनकी पूरी तरीके से थर्मल स्कैनिंग हो रही है.



लखनऊ आए अधिकतर यात्री पूर्वांचल के 
डीएम ने कहा कि इसके अलावा यूपीएसआरटीसी की बसों में उनके बैठने से पहले सभी यात्रियों को सैनेटाइज भी किया जा रहा है. इन बसों से उनको उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया जाएगा. लखनऊ आए यात्रियों में अधिकतर यात्री पूर्वांचल के थे. जिन्हें बसों के माध्यम से उनके घरों की ओर रवाना किया गया है.

आज गुजरात, महाराष्ट्र और कर्नाटक से 5 ट्रेनें पहुंच रहीं यूपी

बता दें आज 5 ट्रेनें गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक से प्रवासी कामगार मजदूरों को लेकर उत्तर प्रदेश पहुंच रही हैं. सीएम योगी के निर्देश पर प्रदेश के सभी कम्युनिटी किचेन की जियो टैगिंग की जा रही है. प्रवासी कामगारों के लिए अब तक तैयार 11 लाख क्वारंटीन सेंटरों/ आश्रय स्थलों की भी जियो टैगिंग हो रही है. बाहर से आ रहे लोगों को पहले सरकार की तरफ़ से बनाए गए ज़िलों के क्वारंटीन सेंटर ले ज़ाया जाएगा. फिर विधिवत मेडिकल जांच के बांद होम क्वारेंटाइन या अस्पताल भेजा जाएगा. जो लोग स्वस्थ होंगे उन्हें खाद्यान्न पैकेट के साथ होम क्वारंटीन में भेज दिया जा रहा है.

बसों की खेप तैयार

निराश्रित लोगों को भरण पोषण भत्ता भी दिया जा रहा है. उत्तर प्रदेश में प्रवासी कामगार श्रमिकों के आने का सिलसिला जारी है. आज 5 ट्रेन गुजरात, महाराष्ट्र से कर्नाटक से प्रवासी कामगार मजदूरों को लेकर प्रदेश में आएंगी. इन्हें गृह जिले तक पहुंचाने के लिए 10000 बसें लगाई गई हैं. वहां इन्हें शासन के क्वारेंटाइन सेंटर ले जाया जाएगा. वहां हेल्थ चेक अप होगा.

ये भी पढ़ें:

आबकारी विभाग का ऐलान- UP में एक व्यक्ति सिर्फ खरीद सकता है डेढ़ लीटर शराब

रेड जोन रायबरेली बॉर्डर पर अचानक पहुंचीं मजदूरों से भरी 45 गाड़ियां, अफरा-तफरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज