लखनऊ: ट्रेन के सामने कूदा सचिवालय कर्मी, सुसाइड नोट में लिखा 'मौत के जिम्मेदार' का नाम

पुलिस का कहना है कि युवक के कब्जे से एक सुसाइड नोट मिला है.

पुलिस का कहना है कि युवक के कब्जे से एक सुसाइड नोट मिला है.

पुलिस का कहना है कि विशाल सैनी के पास से एक सुसाइड नोट (Suicide Note) मिला है. इसमें उसने एक आईपीएस अधिकारी को अपने मौत का जिम्मेदार बताया है. मामले की जांच के आदेश दे दिए गए है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 9:11 PM IST
  • Share this:
लखनऊ.  उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में बुधवार को एक सरकारी कर्मचारी ने खुदकुशी कर ली. हसनगंज में विशाल सैनी नाम के सचिवालय कर्मी ट्रेन से कटकर खुदकुशी (Suicide) कर ली. घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय पुलिस की टीम मौके पर पहुंची. पुलिस का कहना है कि खुदकुशी करने वाली युवक के कब्जे से एक सुसाइड नोट मिला है. नोट को पढ़कर पुलिस के भी होश उड़ गए. पुलिस की मानें तो युवक ने खुदकुशी के लिए एक आईपीएस को जिम्मेदार ठहराया है. फिलहाल, इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, विशाल सैनी नाम के युवक खुदकुशी की है. युवक के पास से एक सुसाइड नोट मिला है. इसमें युवक ने अपनी अपनी आत्महत्या के लिए एडीसीपी नॉर्थ प्राची सिंह को जिम्मेदार बताया है. दरअसल, 12 फरवरी को सेक्स रैकेट के मामले में विशाल सैनी गिरफ्तार हुआ था. युवक ने सुसाइड नोट में खुद को निर्दोष बताते हुए प्राची सिंह पर झूठे केस में फंसाने का आरोप लगाया है. बता दें प्राची सिंह 017 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं. फिलहाल, पुलिस कमिश्नर ने आरोपों के जांच का  आदेश दे दिया है.

यहां पिता को मिला मुआवजा

कानपुर के सजेती थाना क्षेत्र में एक नाबालिग किशोरी से गैंगरेप की वारदात के अगले ही दिन पीड़िता के पिता की ट्रक से कुचलकर हुई मौत के मामले में जिलाधिकारी अलोक तिवारी (ने परिजनों को मुख्यमंत्री कृषक सहायता कोष से 5 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है. साथ ही परिवार को जमीन का पट्टा देने पर भी विचार किया जा रहा है. डीएम ने कहा कि गैंगरेप के दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.
ये भी पढ़ें: भोपाल: वरिष्ठ पत्रकार कमल दीक्षित का निधन, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जताया शोक

डीएम अलोक तिवारी ने एक वीडियो मैसेज जारी कर कहा कि मंगलवार को सजेती थाना क्षेत्र में एक किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात सामने आई थी. आज उसके पिता की भी ट्रक हादसे में दुखद मौत हो गई है. दुःख की इस घडी में जिला प्रशासन पीड़ित परिवार के साथ है और जो भी मदद होगी दी जाएगी. उन्होंने कहा कि सीएम कृषक दुर्घटना सहायता कोष से पांच लाख रुपए की मदद दी जा रही है. साथ ही परिवार को जमीन का पट्टा देने पर भी विचार किया जाएगा. दुष्कर्म के अभियुक्तों को भी कड़ी से कड़ी सजा दिलवाई जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज