लाइव टीवी
Elec-widget

सीएम योगी से मिले जल शक्ति मंत्रालय के सचिव, बुंदेलखंड के लिए अहम प्रोजैक्ट होगा शुरू

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 16, 2019, 4:29 PM IST
सीएम योगी से मिले जल शक्ति मंत्रालय के सचिव, बुंदेलखंड के लिए अहम प्रोजैक्ट होगा शुरू
जल शक्ति मंत्रालय के सचिव ने सीएम योगी से की मुलाकात, बुंदेलखंड पाइप प्रोजैक्ट का शिलान्यास जल्द करने की तैयारी.

मुख्यमंत्री आवास, 5 कालीदास मार्ग पर हुई इस मुलाकात में वर्षा जल संचयन (Rain water Harvesting) के मुद्दे को लेकर चर्चा हुई. इस दौरान वाराणसी के जल संचयन (Varanasi Model of water harvesting) के मॉडल पर चर्चा हुई, साथ ही ग्राउंड वॉटर हारवेस्टिंग के मुद्दे पर भी बात हुई.

  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के साथ आज भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग सचिव परमेश्वरन अय्यर (Parmeshwaran Aiyar) ने मुलाकात की. मुख्यमंत्री आवास, 5 कालीदास मार्ग पर हुई इस मुलाकात में वर्षा जल संचयन (Rain water Harvesting) के मुद्दे को लेकर चर्चा हुई. इस दौरान वाराणसी के जल संचयन (Varanasi Model of water harvesting) के मॉडल पर चर्चा हुई, साथ ही ग्राउंड वॉटर हारवेस्टिंग के मुद्दे पर भी बात हुई. सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुंदेलखंड पाइप परियोजना (Bundelkhand Pipe Project) पर काम की गति बढ़ाने को कहा. सीएम योगी ने इस बात पर जोर दिया कि दिसंबर तक बुंदेलखंड पाइप परियोजना का शिलान्यास हो. बैठक में बुंदेलखंड पैकेज के लिए केंद्र की निधि पर भी चर्चा हुई.

नीति आयोग से बैठक में भी बुंदेलखंड पाइप परियोजना पर हुई चर्चा

बता दें एक दिन पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से नीति आयोग (Niti Ayog) के उपाध्यक्ष राजीव कुमार (Rajeev Kumar) ने मुलाकात की.  इस मुलाकात में प्रदेश में चल रही विकास की तमाम योजनाओं पर विस्तार से चर्चा हुई. जानकारी के अनुसार अन्य विकास के मुद्दों के साथ ही प्रदेश के 8 ऐसे जिलों पर भी विचार किया गया, जहां विकास की संभावनाएं हैं. इसके अलावा सारनाथ में पर्यटन के बढ़ावे, प्रदेश में औद्योगिक निवेश और बुंदेलखंड में पानी की सप्लाई स्कीम प्रमुख मुद्दे रहे. बुंदेलखंड में पानी की सप्लाई स्कीम के तहत सीएम योगी ने बताया कि पुराने कुएं और तालाबों को भरने का काम किया गया है. यही नहीं वर्षा जल संचयन को अनिवार्य किया गया है.

तो यूपी के हर दो जिलों में होगा एक मेडिकल कॉलेज

सीएम ने बताया कि सरकार और जनता के सहयोग से मनरेगा के तहत यूपी की 10 नदियों को फिर से जीवन दिया गया है. यही नहीं सीएम ने बताया कि परिवार, समाज और राष्ट्र की महत्ता को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर काम कर रही है. प्रदेश में 14 नए मेडिकल कॉलेज स्थापित करने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है. अगर प्रस्ताव को शत-प्रतिशत मंजूरी मिल जाती है तो प्रदेश के हर दो जिलों में एक मेडिकल कॉलेज मिल जाएगा. इसके अलावा सरकार लगातार ग्रामीण इलाकों में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने का प्रयास कर रही है.

सरकार तैयार कर रही निवेश का माहौल

सीएम योगी ने बताया कि सरकार उत्तर प्रदेश में निवेश का माहौल तैयार कर रही है. जिससे उद्योग में लगातार निवेश को रहे हैं. निवेश को बढ़ाने के लिए लगातार कार्य हो रहे हैं. बुंदेलखंड में पेयजल योजना को घर-घर तक पहुंचाया जा रहा है. हर घर नल योजना के तहत सभी घरों में स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति पर सरकार काम कर रही है.
Loading...

उन्होंने जल संरक्षण को लेकर भी सरकार बेहतर कार्य कर रही है, जिसमें पुराने कुओं और तालाबों का कायाकल्प किया जा रहा है. यही नहीं वर्षा जल संचयन को अनिवार्य कर दिया गया है.आय़ुष्मान योजना के तहत 1.18 करोड़ लाभार्थियों को सुविधा दी गई है. इससे वंचित रहने वाले 10.56 लाख लोगों को मुख्यमंत्री जन अरोग्य योजना में सुविधा प्रदान की गई है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 4:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...