सोनभद्र हिंसा पर मायावती बोलीं- विफलता छिपाने के लिए यूपी सरकार ने लगाई धारा 144

मायावती ने कहा कि सोनभद्र में आदिवासी समाज का उत्पीड़न व शोषण, उनकी जमीन से बेदखली और अब नरसंहार बीजेपी सरकार की कानून-व्यवस्था के मामले में विफल होने का पक्का प्रमाण है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2019, 2:25 PM IST
सोनभद्र हिंसा पर मायावती बोलीं- विफलता छिपाने के लिए यूपी सरकार ने लगाई धारा 144
मायावती
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2019, 2:25 PM IST
सोनभद्र नरसंहार पर सियासी घमासान जारी है. इस मामले को लेकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने यूपी सरकार पर जमकर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर पर के मोर्चे पर यूपी सरकार पूरी तरह फेल साबित हो चुकी है. उन्होंने शनिवार को कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार अपनी विफलता को छिपाने के लिए धारा 144 का सहारा लेकर किसी को सोनभद्र नहीं जाने दे रही है.

मायावती ने ट्वीट कर कहा, 'यूपी सरकार जान-माल की सुरक्षा व जनहित के मामलें में अपनी विफलता को छिपाने के लिए धारा 144 का सहारा लेकर किसी को सोनभद्र जाने नहीं दे रही है. फिर भी उचित समय पर वहां जाकर पीड़ितों की यथासंभव मदद कराने का बीएसपी विधानमण्डल दल को निर्देश. सरकारी लापरवाही इस नरसंहार का मुख्य कारण.'

मायावती ने कहा कि सोनभद्र में आदिवासी समाज का उत्पीड़न व शोषण, उनकी जमीन से बेदखली और अब नरसंहार बीजेपी सरकार की कानून-व्यवस्था के मामले में विफल होने का पक्का प्रमाण है. उन्होंने कहा, '''यूपी ही नहीं, देश की जनता भी इन सबसे अति-चिन्तित है जबकि बसपा की सरकार में एसटी तबके के हितों का खास ख्याल रखा गया.''

बता दें कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या का मामला शांत होता नहीं दिख रहा. इस घटना के पीड़ितों से मिलने को लेकर अड़ी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को प्रशासन ने सोनभद्र जाने की इजाजत नहीं दी. इस बीच पीड़ित परिवारों की महिलाएं मिर्जापुर स्थित चुनार गेस्ट हाउस आकर कांग्रेस महासचिव से मिलीं.

इससे पहले, प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को पीड़ितों से मिलने को सोनभद्र के लिए निकली थीं, लेकिन पुलिस ने कानून-व्यवस्था का हवाला देते हुए उन्हें वहां हिरासत में ले लिया. प्रियंका ने जमानत के लिए पर्सनल बॉन्ड देने से इनकार कर दिया और मिर्जापुर जिले के एक गेस्टहाउस में ठहरीं, जहां उन्हें अपने समर्थकों के साथ सड़क पर बैठने के बाद ले जाया गया. वह लगातार मांग करती रहीं कि उन्हें पीड़ित परिवारों से मिलने और आगे बढ़ने की अनुमति दी जाए.

ये भी पढ़ें:

प्रियंका गांधी का जमानत लेने से इनकार, कहा- पीड़ितों से मिले बिना नहीं जाऊंगी

सोनभद्र कांड: चुनार गेस्ट हाउस में देर रात तक जागती रही प्रियंका गांधी...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 20, 2019, 2:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...