लखनऊ के इस परिवार पर टूटा कोरोना का कहर, संक्रमण से 7 सदस्यों की गई जान

लखनऊ से सटे इमलिया पूर्वा गांव निवासी ओमकार यादव के परिवार पर कोरोना कहर बनकर टूटा है.

लखनऊ से सटे इमलिया पूर्वा गांव निवासी ओमकार यादव के परिवार पर कोरोना कहर बनकर टूटा है.

Lucknow Corona News: परिवार के सदस्य 25 अप्रैल से 15 मई के बीच कोरोना की चपेट में आते गए और उनकी मौत होती गई. परिवार के आठ सदस्यों की मौत पिछले 20 दिन में हो गई. सोमवार को एक साथ 5 लोगों की तेरहवीं की गई.

  • Share this:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक ऐसा परिवार है जिस पर कोरोना कहर बनकर टूटा है. कोरोना इस परिवार के सात सदस्यों को निगल गया जबकि परिवार का एक बुजुर्ग एक साथ इतनी अर्थियों का दुख नहीं सहन कर सका तो उसकी दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. परिवार के आठ सदस्यों की मौत पिछले 20 दिन में हो गई. सोमवार को एक साथ 5 लोगों की तेरहवीं की गई. इनमें चार सगे भाई थे. पीड़ित परिवार को प्रशासन से मदद का इंतजार है.

लखनऊ से सटे इमलिया पूर्वा गांव निवासी ओमकार यादव के परिवार पर कोरोना की यह सबसे बड़ी त्रासदी है. परिवार के सदस्य 25 अप्रैल से 15 मई के बीच कोरोना की चपेट में आते गए और उनकी मौत होती गई. ओमकार ने बताया कि उनके 4 भाइयों, मां और दो बहनों की मौत कोरोना संक्रमण के चलते हुई है जबकि बड़ी मां बेटों की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सकीं. दिल का दौरा पड़ने से उनका भी निधन हो गया.

Youtube Video

ओमकार ने बताया, "पूरा परिवार कोविड की चपेट में आ गया था. सुबह हमने 10 बजे माता जी का अंतिम संस्कार किया. फिर दोपहर तीन छोटे भाई का अंतिम संस्कार किया. रेल अधिकारियों ने परिवार के सदस्यों को अस्पताल में भर्ती कराया. इसी बीच मेरे बड़े भाई की मौत हो गई. फिर मेरे एक और छोटे भाई का निधन हो गया. बड़ी मां बेटों की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सकीं. दिल का दौरा पड़ने से उनका भी निधन हो गया."
प्रशासन से मदद का इंतजार

ओमकार ने कहा कि अभी तक कोई अधिकारी मदद के लिए आगे नहीं आया है. उन्होंने बच्चों की पढ़ाई और दवाई की चिंता जताई और प्रशासन से मदद की गुहार लगाई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज