लाइव टीवी

आपातकाल में की थी लोकतंत्र के सेनानियों की मदद- हेमा मालिनी

भाषा
Updated: June 26, 2017, 11:13 PM IST
आपातकाल में की थी लोकतंत्र के सेनानियों की मदद- हेमा मालिनी
फाइल फोटो (पीटीआई)

सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि 21 माह के उस काल में लोकतंत्र सेनानियों की जिन लोगों ने किसी न किसी प्रकार मदद की थी, उनमें वे भी शामिल हैं.

  • Share this:
देश में आपातकाल लागू किए जाने की 42वीं बरसी पर मथुरा की सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि 21 माह के उस काल में लोकतंत्र सेनानियों की जिन लोगों ने किसी न किसी प्रकार मदद की थी, उनमें वे भी शामिल हैं.

हेमा ने कहा कि उनकी ब्लॉकबस्टर फिल्म शोले 1975 में आपातकाल लागू होने के 50 दिन बाद 15 अगस्त को रिलीज़ हुई थी और शुरू के कई-कई महीनों तक सिनेमाघरों पर बेहिसाब भीड़ उमड़ती रहती थी. उन्होंने बताया कि ऐसे में आपातकाल का विरोध करने वाले तत्कालीन जनता पार्टी के नेता लोग कई बार पुलिस से बचने के लिए उन सिनेमा हालों में छिपने के लिए आश्रय पाते थे, जहां उनकी बहुचचर्ति फिल्म शोले चल रही होती थी.

तब, भारी भीड़ के चलते उनका पीछा करने वाले पुलिस वाले उनकी तलाश नहीं कर पाते थे. इस प्रकार आपातकाल का विरोध करने वालों में कुछ न कुछ योगदान तो उनका भी था. इंदिरा सरकार द्वारा आपातकाल लागू करने के निर्णय को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए भाजपा सांसद ने कहा कि आपातकाल लगाना कांग्रेस का एक गलत कदम था. उस दौरान कांग्रेस शासन ने राजनैतिक व गैर राजनैतिक, सभी प्रकार के लोगों पर बहुत जुल्म ढाए. इसके चलते आज कांग्रेस की यह स्थिति हो गई है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 26, 2017, 11:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर