शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में भर्ती

बता दें कि 5 जुलाई को शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने वीडियो जारी करके मुस्लिम महिलाओं के लिए एक बयान जारी किया था. ​इसमें उन्होंने कहा कि इस्लाम में मुस्लिम महिलाओं के चूड़ियां और सिंदूर लगाना हराम नहीं है.

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 1:15 PM IST
शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में भर्ती
वसीम रिजवी बिगड़ी तबीयत
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 1:15 PM IST
शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी  की तबीयत गुरुवार देर रात अचानक बिगड़ गई. रिजवी को तत्काल इलाज के लिए लखनऊ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. शिया बोर्ड के सचिव आबिद रज़ा ने बताया कि हाई ब्लड प्रेशर अचानक बढ जाने के कारण उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही हैं. उन्होंने बताया कि शिया बोर्ड के कर्मचारी रिजवी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रार्थना कर रहे है.

बता दें कि 5 जुलाई को शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने वीडियो जारी करके मुस्लिम महिलाओं के लिए एक बयान जारी किया था. ​इसमें उन्होंने कहा कि इस्लाम में मुस्लिम महिलाओं के चूड़ियां और सिंदूर लगाना हराम नहीं है. उन्होंने कहा कि मंगलसूत्र पहने और बिंदिया लगाने पर मुस्लिम धर्मगुरुओं को एतराज नहीं होना चाहिए.



रिजवी कहते हैं कि पूरी दुनिया के कट्टरपंथी मुल्लाओं को चैलेंज है कि जो लोग इससे हराम कहते है. इस वो लोग कुरान में साबित करे जो इससे हराम कहते हैं. शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन ने कहा कि हिन्दुस्तान में यह एक तालिबानी परिचय का प्रचार है.

इससे पहले शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट में एक रिट याचिका दाखिल किया था. ​इसमें उन्होंने मांग की है कि इस्लाम के नाम पर देश में जिस झंडे का इस्तेमाल किया जाता है, वह पाकिस्तान की राजनीतिक पार्टी मुस्लिम लीग का झंडा है, उसे बैन किया जाए. उन्होंने दावा किया है कि इस्लाम में इस तरह के झंडे का कहीं जिक्र या इतिहास नहीं है. देश में ऐसा झंडा लगाना संविधान विरोधी है.

ये भी पढ़ें:

गंगा में मिल रहा अवैध बूचड़खानों से निकला खून, NGT ने लगाया 27 लाख जुर्माना

यूपी में 17 OBC जातियों को SC में शामिल करने पर होगी हाईकोर्ट में सुनवाई
Loading...

यात्रियों की बढ़ी मुश्किलें, लखनऊ में 17 जुलाई से रद्द रहेंगी एक दर्जन ट्रेनें

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...