मदरसा बोर्ड ने जारी की एडवाइज़री, शिया धर्मगुरु और मंत्री के बीच तकरार

15 अगस्त के लिए मदरसा शिक्षा परिषद ने यूपी के सभी मदरसों के लिए आठ सूत्रीय एडवाइज़री जारी की गई है. शिया धर्मगुरु मौलाना सैफ अब्बास ने इस पर आपत्ति जताई है.

Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2019, 2:52 PM IST
मदरसा बोर्ड ने जारी की एडवाइज़री, शिया धर्मगुरु और मंत्री के बीच तकरार
चर्चा में है मदरसा शिक्षा परिषद की एडवाइज़री
Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2019, 2:52 PM IST
उत्‍तर प्रदेश में मदरसे इन दिनों चर्चा में हैं. इस बार स्वतंत्रता दिवस से पहले मदरसा बोर्ड द्वारा जारी की गई एडवाइज़री विवादों में है. मुस्लिम धर्मगुरु ने इस पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए सवाल उठाया कि हर बार मदरसों की ही देशभक्ति क्‍यों जांची-परखी जाती है. वहीं, प्रदेश सरकार में मंत्री मोहसिन रजा इसे सही बताते हैं. असल में यह विवाद उस समय खड़ा हुआ जब मदरसा शिक्षा परिषद ने यूपी के सभी मदरसों के लिए आठ सूत्रीय एडवाइज़री जारी की.

क्या है मदरसा बोर्ड की एडवाइज़री?
मदरसा शिक्षा परिषद की एडवाइज़री में झंडारोहण, राष्ट्रगान, मदरसों में राष्ट्रीय गीत, स्वतंत्रता दिवस की पृष्ठभूमि की जानकारी, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और शहीदों की जानकारी, मदरसा परिसर में वृक्षारोपण तथा राष्ट्रीय एकता पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम कराए जाने की बातों को शामिल किया गया है. मदरसा बोर्ड ने सभी जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारियों को इस बात के निर्देश दिए हैं कि स्वतंत्रता दिवस के एक सप्ताह के भीतर तमाम मदरसों की रिपोर्ट मदरसा परिषद को भी भेजें. मदरसा बोर्ड की तरफ से ऐसी एडवाइज़री हर साल जारी की जाती है.

madarsa, madarsa education board, uttar pradesh news, lucknow, shia religious leader, independance day, patriotism, मदरसा, मदरसा शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश, लखनऊ, शिया धर्मगुरु, स्वतंत्रता दिवस, देशभक्ति
उत्तर प्रदेश में करीब 30 हजाऱ रजिस्टर्ड मदरसे हैं.


'देशभक्ति' चेक करना चाहती है सरकार
शिया धर्मगुरु मौलाना सैफ अब्बास इस एडवाज़री पर आपत्ति जताया है. वह कहते हैं कि मदरसा बोर्ड को मदरसे के लिए ही नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश के सभी शिक्षण संसथानों के लिए एडवाइज़री जारी करनी थी. ऐसी एडवाइज़री जारी करने वाले लोग सिर्फ मदरसे के लोगों की देशभक्ति को चेक करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि शिक्षा में धर्म को बीच में नहीं लाना चाहिए.

उधर, राज्यमंत्री मोहसीन रजा का कहना है कि प्रदेश भर के मदरसों के बच्चे भी देशभक्ति की भावना से ओत-प्रेत हो सकें, इसके लिए इस तरह की एडवाइज़री जारी की गई, इसमें कोई विवाद नहीं होना चाहिए.
Loading...

आजादी के बाद से ही फहराया जाता है तिरंगा
सरकार की इस एडवाइज़री पर ईदगाह के इमाम और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली कहते हैं कि देश की आजादी के बाद से ही प्रदेश के ही नहीं देश भर के मदरसों में 15 अगस्त और 26 जनवरी पर झंडारोहण होता रहा है और हमेशा राष्ट्रगान गाया जाता रहा है. उन्होंने सभी मदरसा संचालकों से इस बात की अपील भी की कि सभी मदरसों में झंडारोहण के साथ राष्ट्रगान गाया जाए जिससे किसी भी अनावश्यक विवाद से बचा जा सके.

ये भी पढ़ें - 
उन्नाव रेप पीड़िता के खून में खतरनाक बैक्टीरिया, 7 में से 6 एंटीबायोटिक बेअसर
आज शाम देश को संबोधित करेंगे PM मोदी, कश्मीर पर कर सकते हैं बड़ा ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 2:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...