वसीम रिजवी बोले- निजामुद्दीन मरकज के मौलाना साद पर दर्ज हो हत्या का केस
Lucknow News in Hindi

वसीम रिजवी बोले- निजामुद्दीन मरकज के मौलाना साद पर दर्ज हो हत्या का केस
शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी

वसीम रिजवी ने कहा कि वहाबी जमातियों को देखकर ऐसा लगता है कि उनका अल्लाह कोई और है, क्योंकि वह कहते हैं कि यह महामारी अल्लाह ने दी है और बंदों को इसके लिए अल्लाह से तौबा करनी चाहिए.

  • Share this:
लखनऊ. शिया वक्फ बोर्ड (Shia Waqf Board) के चेयरमैन वसीम रिजवी (Waseem Rizvi) ने निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) में आयोजित तबलीगी जमातियों के खिलाफ उन्होंने एक और बयान दिया है. वसीम रिजवी ने कहा कि अगर जमात में शामिल लोगों की वजह से कोरोनावायरस (Coronavirus) फैलता है और किसी की भी मौत उस संक्रमण से होती है तो निजामुद्दीन मरकज के मौलाना मोहम्मद साद (Mohammad Saad) के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए.

कुछ इंसानों की गलतियां दुनिया झेल रही

वसीम रिजवी ने कहा कि वहाबी जमातियों को देखकर ऐसा लगता है कि उनका अल्लाह कोई और है, क्योंकि वह कहते हैं कि यह महामारी अल्लाह ने दी है और बंदों को इसके लिए अल्लाह से तौबा करनी चाहिए. अल्लाह की इबादत करना और उससे तौबा करना अच्छी बात है, लेकिन अल्लाह कभी अपने बंदों पर जुल्म नहीं करता. असल में यह कुछ इंसानों की गलतियां हैं, जिसे दुनिया भर के इंसानों को झेलना पड़ रहा है.



एक वीडियो भी किया शेयर
वसीम रिजवी ने एक वीडियो को शेयर करते हुए कहा कि इस वीडियो में कुछ मुसलमान झूम-झूम कर छींक रहे हैं. वसीम ने कहा कि अगर यह वीडियो सही है तो कट्टरपंथी मुसलमानों की मस्जिदों और मदरसों में कोरोना बम तैयार किए जा रहे हैं. उन्होंने मुसलमानों से कट्टरपंथियों के चक्कर से बाहर निकलने की भी अपील की. इससे पहले वसीम रिजवी ने दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए मामले पर मौलाना मोहम्मद साद पर आरोप लगाए. वसीम रिजवी ने कहा कि दिल्ली निज़ामुद्दीन से तबलीगी जमात के लोग मौत बांटने निकले थे.

ये भी पढ़ें:

Covid-19: गांवों में ऐसे रह रहे हैं दिल्ली-एनसीआर और मुंबई से गए श्रमिक

Lockdown: साइकिल पर नहीं मिली लिफ्ट तो कर दी हवाई फायरिंग, मचा हड़कंप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading