उद्धव के अयोध्या दौरे से उत्साहित शिवसेना अब उत्तर भारत में BJP का विकल्प बनने में जुटी
Lucknow News in Hindi

उद्धव के अयोध्या दौरे से उत्साहित शिवसेना अब उत्तर भारत में BJP का विकल्प बनने में जुटी
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

शिवसेना के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा है कि पार्टी का सभी राज्यों में संगठन खड़ा किया जाएगा. सबसे ज्यादा हमारा यूपी और बिहार पर फोकस रहेगा. हम अब बीजेपी के विकल्प के रूप में काम करेंगे. राम मंदिर के साथ ही हिंदुत्व की जो भी प्रतिबद्धता है, उसे शिवसेना पूरा करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2018, 6:02 PM IST
  • Share this:
अयोध्या में उद्धव ठाकरे के दो दिन के प्रवास और आर्शीवाद सभा की कामयाबी से शिवसेना खासी उत्साहित दिख रही है. पार्टी अब उत्तर भारत में बीजेपी के विकल्प के तौर पर खुद को पेश करने की रणनीति बना रही है. इसका रास्ता हिंदुत्व की लाइन से होकर गुजरेगा. पार्टी ने राम मंदिर सहित हिंदुत्व के विभिन्न मुद्दों को लेकर आक्रामक रणनीति अपनाने का फैसला किया है. साथ ही यूपी और बिहार में संगठन विस्तार के साथ चुनावों में पूरी ताकत झोंकने की तैयारी की है.

वाराणसी: धर्म संसद में अयोध्या में लगने वाली श्रीराम की मूर्ति का हुआ विरोध

शिवसेना के यूपी प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह कहते हैं कि राम मंदिर निर्माण को लेकर हमने भारतीय जनता पार्टी की पोल खोल दी है. हमने बाबरी का विध्वंस किया, पूरे देश ने देखा. उसी के दम पर इन लोगों ने सरकार बना ली लेकिन रामलला के साथ जो प्रतिबद्धता थी, उसे पूरा नहीं किया. अब लोग आशा भरी नजरों से शिवसेना को देख रहे हैं. हम अब बीजेपी के विकल्प के रूप में काम करेंगे.



 

'हिंदुत्व की जो भी प्रतिबद्धता है, उसे शिवसेना पूरा करेगी' 


Anil Singh Shivsena
शिवसेना के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह. Photo: News 18


अनिल सिंह ने कहा कि राम मंदिर के साथ ही हिंदुत्व की जो भी प्रतिबद्धता है, उसे शिवसेना पूरा करेगी. उन्होंने कहा कि हम एकलव्य सेना नहीं है, हमारे अभिभावक नेता, जिनके बारे में कहा जाता था कि वे यूपी, बिहार नहीं आते, तो वह अब आ गए हैं.

अयोध्या: राम मंदिर निर्माण की शपथ के साथ समाप्त हुई VHP की धर्म सभा, कोई लिखित प्रस्ताव नहीं

अनिल सिंह ने कहा कि सभी राज्यों में संगठन खड़ा किया जाएगा. सबसे ज्यादा हमारा यूपी और बिहार पर फोकस रहेगा. उन्होंने कहा कि यूपी में हम प्रदर्शन भी करते हैं. हमारे पास आधा दर्जन पार्षद हैं. 14 जिला पंचायत सदस्य हैं. पूरे प्रदेश में 1400 बीडीसी और प्रधान हैं. बिना नेता के हमने यूपी में ये प्रदर्शन किया है. नेतृत्व से कभी हमें समय नहीं मिल सका. अब वे आ रहे हैं तो हमारी बहुत सी कमजोरियां दूर होंगीं. हम और अच्छे तरीके से काम करेंगे.

अनिल सिंह ने कहा कि हमें संगठन मजबूत करने के साथ ही पूरी रणनीति के तहत चुनाव लड़ना है. 6 दिसंबर के बाद से हमारा अभियान शुरू हो जाएगा. पूरे प्रदेश में शिवसेना की बड़ी सभाएं होंगीं, इनमें हमारा शीर्ष नेतृत्व आएगा. 2017 का विधानसभा चुनाव भी हमने लड़ा. कई जगह अच्छा प्रदर्शन हमारा रहा.

ये भी पढ़ें: 

अयोध्या में VHP की धर्मसभा के दौरान करीब 70 हजार भक्तों ने किए रामलला के दर्शन

UPTET 2018: दिसंबर में शिक्षक भर्ती प्रक्रिया शुरू होने के आसार कम, ये रही वजह

VIDEO: रायबरेली जेल में असलहों के साथ कैदियों की शराब पार्टी, मांगी जा रही रंगदारी

मॉर्निंग वॉक पर निकले कपड़ा व्यवसायी की सड़क हादसे में मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज