होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /खतौली विधानसभा उपचुनावः श्रीकांत त्यागी का खतौली में डेरा, भाजपा की मुश्किलें बढ़ीं

खतौली विधानसभा उपचुनावः श्रीकांत त्यागी का खतौली में डेरा, भाजपा की मुश्किलें बढ़ीं

श्रीकांत त्यागी इस क्षेत्र के त्यागी बाहुल्य गांव का दौरा कर अपनी छोटी-छोटी बैठकों के माध्यम से त्यागी समाज को बीजेपी के विरोध में लामबंद कर रहे हैं.

श्रीकांत त्यागी इस क्षेत्र के त्यागी बाहुल्य गांव का दौरा कर अपनी छोटी-छोटी बैठकों के माध्यम से त्यागी समाज को बीजेपी के विरोध में लामबंद कर रहे हैं.

खतौली उपचुनावः यह निर्णय हुआ है कि अभी खतौली का चुनाव है. भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के सामने जो भी मजबूत प्रत्याश ...अधिक पढ़ें

खतौली. उत्तर प्रदेश के जनपद की खतौली विधानसभा क्षेत्र पर होने जा रहे हैं. उपचुनाव में बीजेपी के लिए एक बखेड़ा उस समय खड़ा हो गया, जब श्रीकांत त्यागी ने अपने समर्थको के साथ  खतौली क्षेत्र में रविवार को अपना डेरा डाल लिया।

दरअसल, रविवार को श्रीकांत त्यागी अपने समर्थकों के साथ खतौली विधानसभा क्षेत्र में त्यागी समाज के बहुलीय गांव नावला में पहुंचे. उन्होंने त्यागी समाज के लोगों के साथ एक बैठक की, जिसमें यह निर्णय लिया गया कि खतौली विधानसभा सीट पर 5 दिसंबर को होने वाले उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी का बायकाट करते हुए त्यागी समाज अब भारतीय जनता पार्टी के सामने वाले मजबूत प्रत्याशी को ही अपना वोट देगा. उधर, श्रीकांत त्यागी इस क्षेत्र के त्यागी बाहुल्य गांव का दौरा कर अपनी छोटी-छोटी बैठकों के माध्यम से त्यागी समाज को बीजेपी के विरोध में लामबंद कर रहे हैं.

श्रीकांत त्यागी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार में त्यागी समाज ने ऐतिहासिक वोट देकर सरकार बनाने का काम किया था. 2017 और 22 में उसका परिणाम यह मिला कि त्यागी समाज के बच्चों पर झूठे मुकदमे, गैंगस्टर केस और एक छोटे से मुकदमे का षड्यंत्र पूर्व प्रायोजित कूटनीतिक तरीके से दर्ज किए गए. जिस तरह हमें फंसाने का काम किया है, उसमें कोई न्यायिक जांच नहीं हुई, उसी क्रम में जब 21 अगस्त को गौतम बुध नगर की धरती पर त्यागी समाज की ऐतिहासिक रैली होती है तो उसको भारतीय जनता पार्टी दरकिनार और नजर अंदाज कर देती है. जेल में बंद हमारी आवाज थी, तो उसको उठाने का काम हमारे समाज ने किया और 52 दिन का जो धरना और अनशन किया. उसकी सुनवाई भारतीय जनता पार्टी नहीं करती है और इस तमाम प्रकरण में हमारे लोगों पर लगे झूठे मुकदमे अभी तक वापस नहीं हुए हैं तो किस मुंह से भारतीय जनता पार्टी के लोग हमारे त्यागी समाज के गांव में वोट मांगने के लिए आएंगे. इसी क्रम में एक चर्चा हुई, जिसमें समाज ने पूर्णतया भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी और भारतीय जनता पार्टी का बहिष्कार किया.

आपके शहर से (लखनऊ)

गठबंधन के प्रत्याशी को समर्थन

यह निर्णय हुआ है कि अभी खतौली का चुनाव है. भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के सामने जो भी मजबूत प्रत्याशी होगा त्यागी समाज उसी के साथ जाएगा. त्यागी ने कहा कि गठबंधन प्रत्याशी के साथ समाज जाएगा. हमारे समाज के वोट पर बनी भारतीय जनता पार्टी की सरकार और अब हमारे समाज को गुंडा बदमाश कहा जा रहा है.

इस दौरान त्यागी ने कहा कि गांव गांव जाने की जरूरत नहीं है. श्रीकांत त्यागी पहले ही गांवों में जा चुके हैं और नावला बहुत बड़ा और ऐतिहासिक गांव रहा है. मंत्री जी के भाई जो हैं, उन पर तमाम मुकदमे हैं. मुकदमों की संख्या पर सरकार उन पर भी गैंगस्टर की कार्यवाही सरकार करे.  भारतीय जनता पार्टी में ऐसे बहुत से लोग हैं, जिनके ऊपर लूट हत्या अपहरण डकैती के 50-सौ मुकदमे दर्ज हैं. त्यागी समाज में यह निर्णय हो गया है. जो वोट भाजपा को जाया करता था, उसका बहिष्कार किया जाएगा.

Tags: UP elections, Up news live today

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें