UP: मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह बोले, कोरोना काल में प्रियंका और अखिलेश कर रहे घटिया राजनीति

कोरोना काल में प्रियंका और अखिलेश कर रहे घटिया राजनीति (File photo)

सिद्धार्थनाथ सिंह (Siddharth Nath Singh) ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र को लेकर भी उन्हें आड़े हाथों लिया है.

  • Share this:
    लखनऊ. उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह (Siddharth Nath Singh) ने समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) पर आपदा के वक्त में भी घटिया राजनीति करने का आरोप लगाया है. सिद्धार्थनाथ सिंह का कहना है कि सपा मुखिया अखिलेश यादव कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए सरकार द्वारा कराए जा रहे वैक्सीनेशन को लेकर लगातार उजुल फिजूल बयान दे रहें है. ब्लैक फंगस के इलाज को लेकर भी वह भ्रम फैला रहें हैं. जबकि प्रियंका गांधी वाड्रा कोरोना से लोगों को कैसे बचाया जाए, इसके सुझावों वाले पत्र लिख कर राजनीति में अपनी खोई हुई जमीन पाने का प्रयास कर रहीं हैं. सिद्धार्थनाथ सिंह ने सपा और कांग्रेस के इन नेताओं को सलाह दी हो कि इस आपदा के वक्त में प्रदेश सरकार के साथ मिलकर उन्हें जनता की सेवा करनी चाहिए न कि घटिया राजनीति.

    सिद्धार्थनाथ कहते हैं, वास्तव में अखिलेश यादव सत्ता के सपने में इतने अंधे हो गये है कि योगी सरकार प्रदेश में लोगों को जो फ्री में वैक्सीन लगवा रही है उसे वह देख भी नहीं पा रहे है और कह रहे है की जब मेरी सरकार आएगी तो वैक्सीन फ्री में देंगे. अरे, अखिलेश यादव आंखे खोलो. देखो कि राज्य में 45 वर्ष से ऊपर का वैक्सीनेशन केंद्र सरकार की तरफ से मुफ्त में कराया जा रहा है. प्रदेश सरकार ही तरफ से 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को फ्री में वैक्सीन लगा रही है. इस व्यवस्था के तहत अब तक यूपी में अब तक वैक्सीन की 1,58,41,256 डोज लोगों को फ्री में लगाई जा चुकी हैं. जिसमें 8,52,238 डोज 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को लगाई गई हैं.

    पश्चिमी UP के कुछ जिलों को छोड़कर बाकी प्रदेश में खुला मौसम, अगले 5 दिन बारिश के आसार नहीं

    सिद्धार्थनाथ सिंह ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र को लेकर भी उन्हें आड़े हाथों लिया है. प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को पत्र लिखकर कोरोना से प्रभावित मध्यम वर्ग के लिए राहत की घोषणा करने के साथ ही बिजली दर कम करने, निजी अस्पतालों व स्कूलों में खर्च निर्धारण और उन्हें राहत पैकेज देने के अलावा व्यापारियों करो में छूट देने समेत कई सुझाव दिए हैं. प्रियंका के इन सुझावों को सिद्धार्थनाथ सिंह ने हथकंडा बताया है.

    50 साल में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए क्या किया?
    उन्होंने प्रियंका गांधी से सवाल पूछा है कि कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी क्या ऐसा ही पत्र लिखा है अगर नहीं तो क्यों? सिंह ने यह सवाल भी पूछा है कि कांग्रेस ने अपने 50 साल के शासन में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए क्या किया? इसका जवाब देना चाहिए. प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश की बजाय उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से भी सवाल पूछना चाहिए जहां उनकी सरकार है, कि आखिरकार अब तक उन्होंने आपदा से बचाव को लेकर क्या कुछ किया है. राजनीति करनी है तो घर से बाहर आकर जनता की सेवा करना भी सीखें.