आदमखोर कुत्तों के हमले में घायल हुई बच्ची की मौत, मरने वालों की संख्या 14 हुई

सोनम की मौत के बाद जिले के खैराबाद थाना क्षेत्र में कुत्तों के हमलों में अब तक कुल 14 बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि कई अन्य घायल हुए हैं.

Neeraj Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 18, 2018, 11:28 AM IST
आदमखोर कुत्तों के हमले में घायल हुई बच्ची की मौत, मरने वालों की संख्या 14 हुई
कुत्तों के हमले में घायल हुई बच्ची ने तोड़ा दम
Neeraj Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 18, 2018, 11:28 AM IST
राजधानी लखनऊ से सटे सीतापुर के खैराबाद थाना क्षेत्र के खैरमपुर गांव में गुरुवार को आदमखोर कुत्तों के हमले में घायल हुई 9 वर्षीय बच्ची की शुक्रवार को जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई.

गुरुवार को खैरमपुर निवासी छोटेलाल की 9 साल की बेटी सोनम अपनी सहेली के साथ गांव के बाहर बाग में गई थी. तभी 8 कुत्तों के एक झुण्ड ने बच्चियों पर हमला बोल दिया. कुत्तों को अपनी तरफ आता देख सोनम की सहेली पड़ोस के आम के पेड़ पर चढ़ गई, जिससे कुत्ते उसे अपना शिकार नहीं बना सके. लेकिन आदमखोर कुत्तों ने सोनम को बुरी तरह नोचकर घायल कर दिया. इस बीच ग्रामीणों को आता देखकर कुत्तों का झुण्ड वहां से भाग गया. आनन-फानन में घायल बच्ची को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां आज उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

सोनम की मौत के बाद जिले के खैराबाद थाना क्षेत्र में कुत्तों के हमलों में अब तक कुल 14 बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि कई अन्य घायल हुए हैं.

कुत्तों के हमलों से परेशान होकर ग्रामीणों ने भी अब जवाबी कार्यवाही शुरू कर दी है. पिछले दिनों शहर कोतवाली के बिहारीगंज गांव में 10 वर्षीय शहरीन पर कुत्तों हमला किये जाने से नाराज ग्रामीणों ने दो कुत्तों को दौड़ा-दौड़ाकर मौत के घाट उतार दिया.

इस घटना की सूचना मिलने पर मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने टीम के साथ गांव पहुंचे. उन्होंने दोनों कुत्तों के शवों को अपने कब्जे में ले लिया. इन कुत्तों के शवों को आरवीआरआई की टीम द्वारा जांच के लिए बरेली भेज दिया गया है.

बता दें कि कुत्तों द्वारा बच्चों पर हमले की घटना की गंभीरता को लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सारे आवारा कुत्तों को पकड़ने का निर्देश भी दिया था, जिसके बाद अब तक 35 कुत्तों को पकड़ा जा चुका है. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद पुलिस और प्रशासन हरकत में आ चुका है. कुत्तों को गोली मारने के साथ ही पकड़कर उनकी नसबंदी की जा रही है. इसके बाद उन्हें जंगल में ले जाकर छोड़ा जा रहा है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर