Home /News /uttar-pradesh /

Women's Day 2020: जानिए सेंट पीटर्सबर्ग की स्वेतलाना की कहानी जो लखनऊ आकर बन गईं श्‍वेता

Women's Day 2020: जानिए सेंट पीटर्सबर्ग की स्वेतलाना की कहानी जो लखनऊ आकर बन गईं श्‍वेता

सेंट पीटर्सबर्ग की स्वेतलाना की कहानी जो लखनऊ आकर बन गईं श्‍वेता.

सेंट पीटर्सबर्ग की स्वेतलाना की कहानी जो लखनऊ आकर बन गईं श्‍वेता.

Women's Day 2020: रूस की रहने वालीं स्‍वेतलाना वर्ष 2010 में लखनऊ आई थीं. उन्‍होंने लखनऊ में पिज्‍जा पार्लर खोला और खुद को आर्थिक रूप से आत्‍मनिर्भर बना लिया.

लखनऊ. हौसला और हिम्मत से लबरेज भारत में कुछ नया करने की तमन्ना के साथ सेंट पीटर्सबर्ग की रहने वाली स्वेतलाना वेलिरविना (38) उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंची थीं. दरअसल, स्वेतलाना की शादी लखनऊ के अलीगंज निवासी तिलक मणि त्रिपाठी से साल 1999 में हुई थी. शादी के बाद कुछ वक्त सेंट पीटर्सबर्ग, मास्को और दिल्ली में रहने के बाद स्वेतलाना वर्ष 2010 में लखनऊ आ गईं. अब स्वेतलाना की पहचान श्‍वेता त्रिपाठी के रूप में होने लगी है. विदेश में रेस्टोरेंट चलाने वाली स्वेतलाना ने लखनऊ के अलीगंज इलाके के सहारा स्टेट रोड पर एक पिज्जा और बर्गर पार्लर खोला है. बदलते वक्त के साथ उनका पिज्जा और बर्गर पार्लर मशहूर हो गया है.

स्वेतलाना उर्फ श्‍वेता के बर्गर पार्लर पर ग्राहकों की भीड़ लगी रहती है. हर कोई उनके पिज्जा का मुरीद है. स्‍वेतलाना खासकर बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय हैं. न्यूज18 से बातचीत में स्वेतलाना उर्फ श्‍वेता कहती हैं कि शादी से पहले उनकी अपने पैरों पर खड़ा होने की चाहत थी. इसलिए इंडिया आकर उन्‍होंने बर्गर पार्लर खोला. वह बताती हैं कि उन्‍हें नहीं पता था कि उन्‍हें बच्चों का इतना प्यार मिलेगा.

महिलाओं को मिले रोजगार
महिलाओं को मिले रोजगार


महिलाओं को मिले रोजगार
स्‍वेतलाना ने बताया कि नारी सशक्‍तीकरण की ताकत में कुछ नया करने की क्षमता होती है. स्वेतलाना के पति तिलक मणि त्रिपाठी हर कदम पर उनके व्यापार में सहयोग करते हैं. स्वेतलाना ने कहा, 'मुझे पैसा कमाने की चाहत नहीं है, इसलिए उन्होंने एक पिज्जा और बर्गर का रेट 25 रुपये रखा है.' तीन बच्चों की मां स्वेतलाना की चाहत पिज्जा पार्लर की चेन बनाना है, जिससे ज्यादा-ज्यादा महिलाओं को रोजगार मिल सके.

दुनियाभर में हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के तौर पर मनाया जाता है. इसका उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों के साथ विश्व शांति को बढ़ावा देना है. ऐसी ही कुछ महिलाओं में से स्वेतलाना भी हैं, जो महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए विदेश से इंडिया आकर समाज में एक अपनी नई पहचान बना रही हैं.

ये भी पढ़ें:

लखनऊ: CAA हिंसा के आरोपियों का पोस्टर चस्पा करने पर हाईकोर्ट नाराज, DM और कमिश्नर तलब

Tags: International Women Day, Lucknow news, Pm narendra modi, Sunday Special, UP news, Up news in hindi, Womens day2018, Yogi adityanath

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर