होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

तीन तलाक के जरिए होता रहा अत्याचार, तब कहां थे मुनव्वर और उनकी बेटियां: फरहत नकवी

तीन तलाक के जरिए होता रहा अत्याचार, तब कहां थे मुनव्वर और उनकी बेटियां: फरहत नकवी

बेटियों पर तीन तलाक के जरिए होता रहा अत्याचार, तब कहां थे मुनव्वर

बेटियों पर तीन तलाक के जरिए होता रहा अत्याचार, तब कहां थे मुनव्वर

सामाजिक कार्यकर्ता फरहत नकवी आगे कहती है कि जिस टाइम वह यह दंश झेल रही थी सड़कों पर उतरकर आ गई थी अपने छोटे-छोटे बच्चों को सड़कों पर लेकर आ गई थी. उस टाइम मुनव्वर राणा ने इस तरह का कोई कमेंट नहीं किया. कोई बात नहीं.

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में ऐतिहासिक हुसैनाबाद घंटाघर पर हो रहे प्रर्दशन के दौरान शायर मुनव्‍वर राणा की दो बेटियों पर केस दर्ज होने के बाद सियासत शुरू हो चुकी है. इसी कड़ी में तीन तलाक की जंग को मुकाम तक पहुंचाने वाली सामाजिक कार्यकर्ता फरहत नकवी ने मुनव्वर राणा और उनकी बेटियों पर निशाना साधा. मंगलवार को फरहत नकवी ने वीडियो जारी करके कहा, जब बेटियों पर तीन तलाक के जरिए अत्याचार हो रहा था, तब मुनव्वर राणा और उनकी बेटियां कहां थी.'

    तीन तलाक का दंश

    उन्होंने कहा कि आज मैं कहना चाहती हूं कि जो मुनव्वर राणा की बेटियों पर एफआईआर दर्ज हुई है. उस पर मुनव्वर राणा आगे बढ़ चढ़कर बात कर रहे हैं कि बेटियों के बारे में बेटियों के समर्थन में बातें कर रहे हैं. लेकिन मैं यह पूछना चाहूंगी कि जिस टाइम मुस्लिम समुदाय से महिलाएं तीन तलाक का दंश झेल रही थी वह भी तो अपने कौम की बेटी बेटियां थी.

     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समझा तीन तलाक पीड़ितों का दर्द

    सामाजिक कार्यकर्ता फरहत नकवी आगे कहती है कि जिस टाइम वह यह दंश झेल रही थी सड़कों पर उतरकर आ गई थी अपने छोटे-छोटे बच्चों को सड़कों पर लेकर आ गई थी. उस टाइम मुनव्वर राणा ने इस तरह का कोई कमेंट नहीं किया, कोई बात नहीं. आज अपने बेटियों पर एफ आई आर दर्ज हो गई तो उनकों चिंता सताने लगी. वहीं जब तीन तलाक जैसा दंश जो एक परिवार को बिखेर देता है. बच्चे बीवी सब बिखर जाते हैं, उस समय मुनव्वर राणा ने कोई टिप्पणी नहीं की. उन्होंने कहा कि उस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन महिलाओं के दर्द को समझा और कानून को लागू किया.

    लखनऊ में दर्ज हुई FIR

    बता दें मुनव्वर राणा की दो बेटियों सुमैया राणा और फौजिया राणा समेत 100 से ज्यादा अज्ञात महिलाओं के खिलाफ पुलिस ने धारा 144 का उल्लंघन, लोगों को भड़काने और लोक सेवक को रोकने के लिए हमला या आपराधिक बल का उपयोग करना जैसी धाराओं में केस दर्ज किया है. ठाकुरगंज पुलिस ने इस मामले में तीन अलग-अलग FIR दर्ज की है.

    दोहरा कानून देश को बर्बाद करने के लिए

    बेटियों के खिलाफ एफआईआर पर मुनव्वर राणा ने कहा कि पुलिस का काम है एफआईआर दर्ज करना, तो वो कर रही है. यह दोहरा कानून देश को बर्बाद करने के लिए है. अगर शासन-प्रशासन सूझ-बुझ से कदम नहीं उठाएगा तो देश की हालत और खराब हो जाएगी. न्याय तो देना पड़ेगा. 400 से ऊपर सीटें इंदिरा गांधी भी लेकर आई थीं, लेकिन आज कांग्रेस 40-50 पर सिमट जाती है. इस बात का ध्यान बीजेपी को रखना चाहिए.

    ये भी पढे़ं:

    अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद: पीस पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की क्यूरेटिव पिटीशन

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: CAA, Lucknow news, Triple talaq, Triple Talaq Bill, UP police, Yogi adityanath, लखनऊ

    अगली ख़बर