लाइव टीवी

सोनिया गांधी ने रायबरेली से भरा पर्चा, वाजपेयी की 2004 में हुई हार की दिलाई याद

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 11, 2019, 2:41 PM IST

सोनिया गांधी के नामांकन के समय उनके साथ मौजूद रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी को बहस की चुनौती देते हुए कहा कि जिस दिन प्रधानमंत्री मेरे साथ बहस करेंगे, उस दिन देश के सामने साफ हो जाएगा कि चौकीदार चोर हैं.

  • Share this:
यूपीए अध्यक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने उत्तर प्रदेश की रायबरेली सीट से गुरुवार दोपहर को नामांकन पर्चा भरा. इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी भी उनके साथ मौजूद थी.

वहीं पर्चा भरने के बाद बाहर आईं सोनिया गांधी से जब पत्रकारों ने सवाल किया कि क्या पीएम नरेंद्र मोदी अजेय हैं? तो उन्होंने कहा, 'बिल्कुल नहीं. 2004 को मत भूलिए. तब वाजपेयी जी भी अजेय लग रहे थे, लेकिन हम जीत थे.'



इस दौरान राहुल गांधी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, 'भारत के इतिहास में ऐसे कई लोग हुए हैं जिन्हें यह अहंकार था कि भारत के लोंग की तुलना में वे बड़े और अजेय हैं. नरेंद्र मोदी ने पिछले 5 सालों में भारत के लोगों के लिए कुछ भी नहीं किया.' इसके साथ ही उन्होंने पीएम मोदी को बहस की चुनौती देते हुए कहा कि जिस दिन प्रधानमंत्री मेरे साथ बहस करेंगे, उस दिन देश के सामने साफ हो जाएगा कि चौकीदार चोर है.
Loading...




नामांकन करने से पहले उन्होंने रोड शो किया. इससे पहले सुबह में राहुल और प्रियंका गांधी के साथ हवन करते हुए उनकी तस्वीरें आई थीं. सोनिया पांचवीं बार रायबरेली से लोकसभा चुनाव लड़ रही है. इस वजह से इस बार उनके प्रचार में 'पांच लाख पार' का नारा भी चल रहा है. सोनिया का मुकाबला बीजेपी के दिनेश प्रताप सिंह से है जो कांग्रेस छोड़कर कुछ ही समय पहले बीजेपी में शामिल हुए हैं. एसपी-बीएसपी गठबंधन ने इस सीट पर कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है.

रायबरेली को कांग्रेस का मजबूत किला माना जाता है. खुद सोनिया यहां से अभी तक चार बार बार (2004, 2006 (उपचुनाव), 2009 और 2014 ) जीत हासिल कर चुकी हैं. इस सीट पर पहली बार पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पति फिरोज गांधी ने जीत हासिल कर कांग्रेस का खाता खोला था.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 11, 2019, 12:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...