लाइव टीवी

सुजीत पांडे लखनऊ तो आलोक सिंह नोएडा के पहले पुलिस कमिश्नर नियुक्त
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 13, 2020, 2:03 PM IST
सुजीत पांडे लखनऊ तो आलोक सिंह नोएडा के पहले पुलिस कमिश्नर नियुक्त
आईपीएस अलोक सिंह और सुजीत पांडे (फाइल फोटो)

पुलिस आयुक्त के रूप में एडीजी स्तर के अधिकारी काम करेंगे. उनके साथ 2 जॉइंट पुलिस कमिश्नर होंगे, जो आईजी स्तर के होंगे.

  • Share this:
लखनऊ/नोएडा. उत्तर प्रदेश में पुलिस कमिश्नर सिस्टम (Police Commissioner System) लागू करने के प्रस्ताव को कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) में मंजूरी मिल गई. इसके बाद एडीजी जोन प्रयागराज सुजीत पांडे को लखनऊ और आईजी जोन मेरठ आलोक सिंह को नोएडा का पहला पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया गया है. आलोक सिंह का हाल ही में एडीजी रैंक पर प्रमोशन हुआ है.

बता दें कैबिनेट में प्रस्ताव पास होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रेस कांफ्रेंस कर पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने की जानकारी दी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस की दृष्टिकोण से आज का दिन सबसे महत्वपूर्ण है, जिसके सुधार के लिए आज हमारी सरकार ने कदम उठाया है. उन्होंने कहा कि लगातार जो मांग हो रही थी, पुलिस आयुक्त प्रणाली को लेकर आज कैबिनेट ने पास किया है. लखनऊ और नोएडा में यह प्रणाली लागू किया गया है.

सीएम ने कहा कि पुलिस की प्रणाली धीमी होने के कारण सरकार पर सवाल खड़ा हो रहा था. उसे देखते हुए ये किया गया है. 10 लाख से ऊपर नगरीय क्षेत्रों में यह लागू होना चाहिए था, लेकिन राजनीतिक इच्छा शक्ति न होने के कारण कोई कदम नहीं उठा पाया. हमारी सरकार ने इसे लागू किया है. सीएम ने कहा कि 25 लाख से ऊपर गौतम बुद्ध नगर में आबादी रह रही है. नगर निगम के विस्तार के बाद ऐसा हुआ है. मुख्यमंत्री ने कहा कि अब पुलिस के पास मजिस्ट्रेट के समकक्ष पावर आ जाएंगे.

पुलिस कमिश्नर पद पर एडीजी स्तर के अफसर की होगी तैनाती

पुलिस आयुक्त के रूप में एडीजी स्तर का अधिकारी काम करेगा. उनके साथ 2 जॉइंट पुलिस कमिश्नर होंगे, जो आईजी स्तर के होंगे. इसके अलावा 9 एसपी रैंक के अधिकारी साथ मे मौजूद होंगे. सीएम ने कहा कि 1 एसपी रैंक की महिला पुलिसकर्मी को भी हम तैनात कर रहे हैं, जिससे महिला अपराध में रोक लगाई जा सके. उसकी एक एडिशनल रैंक की महिला अधिकारी मदद करेगी.

पुलिस अफसरों की फौज करेगी काम
सीएम ने कहा कि यातायात पुलिस एसपी और एक एडिशनल रैंक का अधिकारी भी काम करेंगे. निर्भया फंड को ध्यान में रखते हुए सीसीटीवी कैमरे जहां जरूरत होगी वहां लगाया जाएगा. सीएम ने बताया कि गौतमबुद्ध नगर में एक एडीजी स्तर, 2 जॉइंट कमिश्नर, 5 एसपी रैंक के अधिकारी 1 महिला पुलिस अधिकारी होंगे. एक एसपी रैंक का अधिकारी यातायात व्यवस्था को देखेगा. साथ ही आयुक्त प्रणाली के तहत थाने भी बनाए जाएंगे. सीएम ने कहा कि कमिश्नर के पास मजिस्ट्रेट पावर के साथ 15 अधिकार भी दिए जाएंगे. यह अधिकार होगा कि कौन से पुलिस अधिकारी को कौन सी शक्तियां दी जाएं.

ये भी पढ़ें:यूपी कैबिनेट बैठक में लखनऊ-नोएडा में कमिश्नरी सिस्टम के प्रस्ताव पर लगी मुहर

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर पलटी वॉल्वो बस, दो की मौत, 18 घायल

(इनपुट: अजीत प्रताप सिंह)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 12:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर