Home /News /uttar-pradesh /

आधा दर्जन सीटों पर सपा-बसपा में फंसा पेंच, जानिए किन नामों पर है विरोध?

आधा दर्जन सीटों पर सपा-बसपा में फंसा पेंच, जानिए किन नामों पर है विरोध?

मायावती-अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

मायावती-अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

ऐसे नेताओं के लिए गठबंधन गले की फांस बन चुका है और उनके राजनीतिक भविष्य पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं. दरअसल इसकी वजह यह है कि अखिलेश उधर मायावती दोनों ही गठबंधन को मजबूती देने की जुगत में जुटे हैं.

    लोकसभा चुनाव में गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रही समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी में कुछ प्रत्याशियों के नामों पर विरोध शुरु हो गया है. तो वहीं कई सीटों पर बसपा के नेताओं ने भी सपा प्रत्याशियों ने विरोध जताया है. जैसे सुल्तानपुर से बसपा प्रत्याशी चंद्रभान सिंह उर्फ सोनू का सपा कर रही विरोध, तो सपा प्रत्याशी इंद्रजीत सरोज और रामजीलाल सुमन का भी बसपा के ओर से विरोध हो रहा है. बलिया और जौनपुर सीट पर सपा बसपा गठबंधन में पेंच फंसा हुआ है. बलिया से सपा के नीरज शेखर उम्मीदवार बनाए जा सकते है. वहीं जौनपुर से बसपा यादव कैंडिडेट को टिकट देना चाहती हैं. इस मुद्दे पर अखिलेश और मायावती के बीच बातचीत का दौर जारी है.

    लोकसभा चुनाव 2019: पूर्व मंत्री पंडित सिंह को सपा ने गोंडा से दिया टिकट

    पश्चिम यूपी की लोकसभा सीट हाथरस में इस बार गठबंधन की तरफ से सपा प्रत्याशी रामजीलाल सुमन मैदान में हैं. गौरतलब है कि बसपा के साथ गठबंधन के तहत समाजवादी पार्टी 37 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है. उधर, बीएसपी ने भी अपने हिस्से की अधिकतर सीटों पर लोकसभा प्रभारी नियुक्त कर दिए हैं. ऐसा कहा जा रहा है कि बीएसपी भी अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर कर सकती है. बता दें कि पहले, दूसरे और तीसरे चरण में वेस्ट यूपी में चुनाव होने हैं जिसके लिए नामांकन प्रक्रिया 18 मार्च से शुरू हो जाएगी.

    लोकसभा चुनाव 2019: माया-अखिलेश की ज्वॉइंट रैली का ये रहा शेड्यूल

    इसी कड़ी में मायावती सरकार में मंत्री रह चुके और पूर्व बसपा प्रदेश अध्यक्ष इन्द्रजीत सरोज अब सपा में हैं. समाजवादी पार्टी ज्वाइन करने के बाद सरोज ने कहा था कि बसपा में बोलने की आजादी नहीं थी. यहां कम से बोलने और बैठने की आजादी है. इंद्रजीत सरोज ने आगे कहा, ''बसपा में उसी तरह अघोषित इमरजेंसी है, जैसे मोदी की सरकार में है. मुझ पर बीजेपी और कांग्रेस में जाने का प्रेशर था.

    लोकसभा चुनाव 2019: BSP उम्मीदवारों की आज जारी हो सकती है लिस्ट, ये रहे संभावित

    सुल्तानपुर से बसपा प्रत्याशी चंद्रभान सिंह उर्फ सोनू के नाम पर समाजवादी पार्टी विरोध कर रही है. सपा और बसपा की नई दोस्ती से उन नेताओं को झटका लगा है जो पाला विधानसभा चुनाव के दौरान या बाद में पाला बदलकर सपा या बसपा में शामिल हो गए थे. ऐसे नेताओं के लिए गठबंधन गले की फांस बन चुका है और उनके राजनीतिक भविष्य पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं. दरअसल इसकी वजह यह है कि अखिलेश उधर मायावती दोनों ही गठबंधन को मजबूती देने की जुगत में जुटे हैं.

    अखिलेश के तेवर बदले, बोले- कांग्रेस ने गठबंधन की बजाय खुद पर ज्यादा ध्यान दिया

    बता दें कि देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में भी सात चरणों में वोटिंग होनी है. पहले चरण की वोटिंग 11 अप्रैल को, दूसरे चरण के लिए 18 अप्रैल, तीसरे चरण के लिए 23 अप्रैल, चौथे चरण के लिए 29 अप्रैल, पांचवें चरण के लिए 6 मई, छठे चरण के लिए 12 मई और सातवें चरण के लिए वोटिंग 19 मई को होगी. नतीजे 23 मई को आएंगे.

    (रिपोर्ट: अजीत सिंह)

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Akhilesh yadav, BJP, Lok Sabha Election 2019, Lucknow news, Mayawati, Pm narendra modi, RSS, Uttar pradesh news, Uttar Pradesh Politics, VHP, Yogi adityanath

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर