रमजान पर इबादत और रोजे की फर्ज अदायगी के लिए आजम और उनके परिवार को रिहा करें : अखिलेश
Rampur News in Hindi

रमजान पर इबादत और रोजे की फर्ज अदायगी के लिए आजम और उनके परिवार को रिहा करें : अखिलेश
सपा प्रमुख अखिलेश यादव (File Photo)

सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि रमजान के पवित्र महीने में लोग संयम, इबादत के साथ सबके भले के लिए दुआएं करते हैं. आजम खान (Azam Khan) और उनके परिवार को भी देश के स्वतंत्र नागरिक के रूप में अपने धार्मिक फर्ज की अदायगी का पूरा अवसर मिलना चाहिए.

  • Share this:
लखनऊ. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने वरिष्ठ समाजवादी नेता एवं लोकसभा सदस्य मोहम्मद आजम खान (Mohd. Azam Khan), उनकी पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम को रमजान (Ramzan) के महीने में इबादत और रोजे की फर्ज अदा करने के लिए जेल से रिहा करने का आग्रह किया है.

अखिलेश यादव ने कहा कि मोहम्मद आजम खान प्रदेश के प्रतिष्ठित नेता हैं. वो कई बार मंत्री और विधायक रह चुके हैं. वो राज्यसभा के सदस्य रहे हैं. वर्तमान में वो रामपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं. मौलाना मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय जैसा उच्च शैक्षणिक संस्थान उन्हीं की देन है. उनकी पत्नी भी विधायक हैं. दोनों बीमार हैं. अखिलेश यादव ने कहा कि आजम साहब के बेटे अब्दुल्ला आजम भी विधायक रहे हैं. सरकार इन सबके साथ जो व्यवहार कर रही है, वह अशोभनीय है.

सत्तादल आजम खान की छवि बिगाड़ने पर तुला है
सपा प्रमुख ने कहा कि मोहम्मद आजम खान के प्रति सत्ता दल एवं उसकी सरकार विद्वेषपूर्ण व्यवहार कर रही है. आजम खान साहब पर सरकारी इशारे पर तमाम फर्जी मुकदमे दर्ज किए गए हैं और उन्हें जेल में रखकर प्रताड़ित किया जा रहा है. सत्तादल उनकी छवि बिगाड़ने पर तुला है.
बीजेपी सरकार के आचरण से एक वर्ग में असुरक्षा की भावना फैल रही


उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के आचरण से समाज का एक वर्ग बुरी तरह आतंकित है. उसमें असुरक्षा की भावना फैल रही है. आजम भाजपा की बदले की भावना के शिकार हैं. भाजपा हर मामले को साम्प्रदायिक रंग देने का काम कर रही है. समाज में सद्भाव कायम रखने के लिए आवश्यक है सबके साथ न्याय होना चाहिए, यही शासन की सम्दृष्टि का परिचय होता है. अखिलेश यादव ने कहा कि रमजान के पवित्र महीने में लोग संयम, इबादत के साथ सबके भले के लिए दुआएं करते हैं. आजम और उनके परिवार को भी देश के स्वतंत्र नागरिक के रूप में अपने धार्मिक फर्ज की अदायगी का पूरा अवसर मिलना चाहिए.

ये भी पढ़ें:-

यूपी में अब तक कोरोना संक्रमण के 1507 मामले, 80 पत्रकारों की रिपोर्ट आई निगटिव

UP Weather Report: गर्मी से लोगों को मिली राहत, 5 से 10 डिग्री तक गिरा पारा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading