UP: सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव अब स्वस्थ, आज होंगे डिस्चार्ज पर दिल्ली में ही रहेंगे

मेदांता अस्पताल में भर्ती मुलायम सिंह यादव (File Photo)
मेदांता अस्पताल में भर्ती मुलायम सिंह यादव (File Photo)

कोरोना संक्रमण (Covid-19 Positive) के चलते पिछले दिनों मुलायम सिंह यादव मेदांता में एडमिट हुए थे. हालांकि डिस्चार्ज होने के बाद वह दिल्ली स्थित आवास पर 15 दिन तक आराम करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2020, 7:20 AM IST
  • Share this:
लखनऊ/गुरुग्राम. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की तबियत अब ठीक है. गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती मुलायम सिंह यादव आज शनिवार को डिस्चार्ज होंगे. कोरोना संक्रमण (Covid-19 Positive) के चलते पिछले दिनों मुलायम सिंह यादव मेदांता में एडमिट हुए थे. हालांकि डिस्चार्ज होने के बाद भी वह अभी लखनऊ नहीं लौटेंगे. जानकारी के अनुसार मुलायम सिंह अपने दिल्ली स्थित आवास पर अभी 15 दिन तक आराम करेंगे.

बता दें 14 अक्टूबर को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव कोरोना वायरस की चपेट में आ गए. उनकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona Positive) आई थी. इसके बाद उन्‍हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

उपचुनाव में नहीं कर सकेंगे प्रचार!



15 दिन तक दिल्ली में रहने से ही साफ हो गया है कि मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश विधानसभा में 7 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों का प्रचार नहीं कर पाएंगे. बता दें पिछले दिनों तबियत खराब होने के बाद भी समाजवादी पार्टी ने उन्हें स्टार प्रचारकों की सूची में रखा था. इसी तरह जेल में बंद आजम खान को भी पार्टी ने स्टार प्रचारक की लिस्ट में रखा है.
पत्‍नी साधना भी कोरोना पॉजिटिव

हालांकि शुरुआती जांच में साफ हुआ था कि उनमें कोरोना के एक भी लक्षण नहीं हैं. डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनकी सेहत पर नजर रखी हुई थी. इसके अलावा उनकी पत्‍नी साधना की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. मुलायम के कोरोना पॉजिटिव आने की जानकारी समाजवादी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल से दी.

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव 80 साल के हैं. वह इस समय उत्‍तर प्रदेश की मैनपुरी लोकसभा सीट से सांसद हैं. हालांकि खराब सेहत की वजह से वह पिछले काफी समय से राजनीति में ज्‍यादा सक्रिय नहीं हैं. यही नहीं, नेताजी 3 बार उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री रह चुके हैं. जबकि 2012 में बहुमत मिलने के बाद मुलायम सिंह यादव ने अपने बेटे अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को यूपी का मुख्‍यमंत्री बनाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज