vidhan sabha election 2017

यूपी सरकार ने सहकारी समितियों में प्रजातांत्रिक व्यवस्था का गला घोटा: शिवपाल सिंह यादव


Updated: December 7, 2017, 3:39 PM IST
यूपी सरकार ने सहकारी समितियों में प्रजातांत्रिक व्यवस्था का गला घोटा: शिवपाल सिंह यादव
शिवपाल सिंह यादव Image Source: PTI

Updated: December 7, 2017, 3:39 PM IST
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया कि वह सहकारी समितियों में प्रजातांत्रिक व्यवस्था का गला घोंट रही है.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा नियमों में परिवर्तन करके निर्वाचित प्रबन्ध कमेटी की जगह अंतरिम प्रबन्ध कमेटी का प्राविधान करने सम्बन्धी अध्यादेश पर सहकारी क्षेत्र में तीखी प्रतिक्रिया हुई है.

यह अध्यादेश शासन द्वारा सहकारी समितियों के प्रजातांत्रिक स्वरूप को समाप्त करने के रूप में सीधा हस्तक्षेप है. सहकारी निर्वाचन कार्यक्रम घोषित होने के उपरान्त सहकारी समितियों के आधारभूत सिद्धांत में परिवर्तन करना सरकार की विवशता एवं हताशा को दर्शाता है. साथ ही लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति सरकार के तिरस्कारपूर्ण आचरण को प्रदर्शित करता है.

सहकारी निर्वाचन आयोग एवं राज्य सरकार ने समय से सहकारी समितियों के निर्वाचन कराने की विफलता को छुपाने के लिए अध्यादेश के माध्यम से जनता की आवाज को दबाने व कूचलने की कुत्सित प्रयास किया.

निकट भविष्य में विधानमंडल का सत्र आहूत किया जा चुका है. ऐसी दशा में अध्यादेश के माध्यम से नियमों में परिवर्तन राज्य सरकार द्वारा संविधान एवं विधान मंडल की उपेक्षा दर्शाता है. सरकार द्वारा जल्दबाजी में जारी अध्यादेश नियम विरूद्ध एवं औचित्यहीन है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर