बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में CBI कोर्ट में 4 जून को दर्ज होंगे आडवाणी-जोशी समेत 32 लोगों के बयान
Lucknow News in Hindi

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में CBI कोर्ट में 4 जून को दर्ज होंगे आडवाणी-जोशी समेत 32 लोगों के बयान
लिव इन करार का मामला पहुंचा गुजरात हाईकोर्ट.

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में अब 4 जून को भाजपा नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी(Lal Krishna Advani), मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi) और उमा भारती सहित 32 आरोपियों के बयान दर्ज किए जाएंगे.

  • Share this:
लखनऊ. अयोध्‍या में हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले (Babri Masjid Demolition Case) में लखनऊ में सीबीआई की विशेष अदालत में गुरुवार को सुनवाई हुई. इस दौरान बचाव पक्ष की तरफ से अदालत से और समय मांगा गया, जिसकी अर्जी मंजूर करते हुए अब 4 जून की नयी तारीख तय की है. बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में अब भाजपा नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी(Lal Krishna Advani), मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi) और उमा भारती सहित 32 आरोपियों के बयान दर्ज किए जाएंगे.

विशेष न्यायाधीश ने किया आरोपियों को तलब
विशेष न्यायाधीश एस.के. यादव ने भाजपा के दिग्‍गज नेता नेता लाल कृष्ण आडवाणी, उमा भारती, कल्याण सिंह और मुरली मनोहर जोशी समेत 32 आरोपियों को गवाही के लिए तलब किया गया है. जबकि कोर्ट में आरोपियों के वकील ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से सभी लोगों से संपर्क नहीं हो पाया है, इसलिए स्थगन आदेश दिया जाए. इसके बाद इस मामले पर 4 जून की नई तारीख दी गयी है.





सभी को अदालत में हाजिर होने के निर्देश
बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले की सुनवाई कर रही विशेष सीबीआई अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 4 जून की तारीख तय करते हुए सभी आरोपियों को बयान दर्ज कराने के लिये इस तिथि को अदालत में हाजिर होने के निर्देश दिये हैं. इस मामले में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह तथा भाजपा के वरिष्ठ नेतागण मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, साध्वी ऋतम्भरा, साक्षी महाराज, राम विलास वेदांती और बृज भूषण शरण सिंह समेत 32 लोग हैं.

सीबीआई के वकील ने कही ये बात
सीबीआई के वकील ललित सिंह और आर.के. यादव ने बताया कि आडवाणी, जोशी और उमा भारती को अगले आदेश तक अदालत में हाजिर होने से छूट मिली थी. अन्य ने भी गुरुवार को लॉकडाउन और अन्य दिक्कतों का हवाला देते हुए हाजिरी माफी की गुजारिश की. मगर अदालत ने बचाव पक्ष के वकील को निर्देश दिया कि 4 जून को हर हाल में अभियुक्तों को अदालत में हाजिर किया जाए. इससे पहले, मामले की सुनवाई कर रहे विशेष न्यायाधीश एस. के. यादव की अदालत में सीबीआई ने अपने साक्ष्य प्रस्तुतिकरण का काम गत छह मार्च को पूरा कर लिया था.

गौरतलब है कि छह दिसम्बर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद को उन्मादी भीड़ ने ढहा दिया था. इस मामले में अनेक मुकदमे दर्ज कराये गये थे. मामला सीबीआई को सौंपे जाने पर उसने जांच के बाद 49 अभियुक्तों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था, जिनमें से 17 की अभी तक मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें

Weather Alert:आगरा-अलीगढ़ समेत UP के इन जिलों में अगले तीन घंटे में होगी बारिश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading