बदायूं में दलित की पिटाई: राज्य एससी-एसटी आयोग ने लिया संज्ञान, रिपोर्ट तलब

Ajayendra Rajan | News18 Uttar Pradesh
Updated: April 30, 2018, 5:53 PM IST
बदायूं में दलित की पिटाई: राज्य एससी-एसटी आयोग ने लिया संज्ञान, रिपोर्ट तलब
दबंगों ने की दलित की पिटाई

आयोग के अध्यक्ष बृजलाल द्वारा बरेली जोन के अपर पुलिस महानिदेशक प्रेम प्रकाश को पत्र भेजा गया है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के बदायूं में एक दलित की गांव के दबंगों द्वारा जूते से पिटाई मामले में राज्य अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग ने संज्ञान ले लिया है. इस संबंध में आयोग के अध्यक्ष बृजलाल द्वारा बरेली जोन के अपर पुलिस महानिदेशक प्रेम प्रकाश को पत्र भेजा गया है. इसमें कहा गया है कि बदायूं में वाल्मीकि समाज के एक व्यक्ति पर हुए अत्याचार का मामला सामने आया है. यह अति संवेदनशील मामला है.

मामले में आयोग के अध्यक्ष बृजलाल ने न्यूज 18 को बताया कि एडीजी बरेली से मेरी बात हुई है. मामले में आईजी मौके पर पहुंच कर जांच कर रहे हैं. वहीं इस संबंध में हजरतपुर इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है. पीड़ित को काफी चोटें आई हैं. उन्होंने कहा कि हमने एडीजी से कहा है कि मामले में कठोर कार्रवाई कराकर आयोग को सूचित करें.

पत्र में बृजलाल ने लिखा है-
मैंने आपको निर्देशित किया था कि इस मामले में आईजी बरेली रेंज को तुरंत घटना स्थल पर भेजें. वह खुद मौके पर निरीक्षण कर दबंग व्यक्तियों के खिलाफ समुचित कार्रवाई करें. साथ ही पीड़ित व्यक्ति की सुरक्षा पुख्ता की जाए. ताकि दबंग उसके साथ अन्य कोई घटना न कर सकें.


बृजलाल ने कहा कि आईजी ये भी देखें कि मामले में पुलिस की तरफ से कोई लापरवाही बरती गई है या नहीं. अगर लापरवाही सामने आती है तो संबंधित पुलिस कर्मी या अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाए. साथ ही इस कार्रवाई से आयोग को अवगत भी कराया जाए.

बता दें, बदायूं के हजरतपुर थाना क्षेत्र के गांव आजमपुर निवासी सीताराम ने आईजी जोन बरेली को शिकायती पत्र में बताया है कि 24 अप्रैल को गांव के दबंगों ने उसे फसल कटाई के लिए कहा था लेकिन उसने इनकार कर दिया. सीताराम का आरोप है कि जब वह अपने खेतों में काम कर रहा था, तब दबंगों ने आकर उसे पेड़ से बांध दिया और जूतों से उसकी पिटाई की. इतना ही नहीं उसके लिए जातिसूचक शब्दों का भी प्रयोग किया गया.

पीड़ित के शिकायती पत्र के बाद आईजी ने एसएसपी से मामले की जानकारी लेकर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई का आदेश दिया है. वहीं थाना पुलिस ने आरोपी विजय सिंह, शिलेंद्र, विक्रम सिंह और पिंकू के खिलाफ एससीएसटी सहित संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है.

इस मामले में एसएसपी ने बताया कि दलित और गांव के लोगों में मार-पिटाई का मामला सामने आया था, जिसकी पुलिस ने जांच की लेकिन ये मामला झूठा निकला. एसएसपी ने बताया कि बाद में दोबारा पिटाई का आरोप लगाया गया. इसके बाद दोनों पक्षों को थाने लाया गया था. एसएसपी का कहना है कि सीताराम की शिकायत के बाद मामला दर्ज करा दिया गया है. जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.
Loading...

ये भी पढ़ें- मंत्री ओम प्रकाश राजभर के सरकारी आवास पर हमला करने के आरोप में पूजा यादव गिरफ्तार

डिप्टी सीएम केशव मौर्य का ऐलान- यूपी बोर्ड के टॉप-20 छात्रों को मिलेगी शानदार सड़क

कन्नौज: महिला से गैंगरेप का वीडियो हुआ वायरल, पीड़िता बोली- कर लूंगी सुसाइड

लखीमपुर खीरी: देखिए दूल्हे की मौत का लाइव वीडियो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 30, 2018, 5:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...