Home /News /uttar-pradesh /

लखनऊ का ऐसा अनोखा कोनेशवर मंदिर जहां शिवलिंग बदल लेता था अपना स्थान 

लखनऊ का ऐसा अनोखा कोनेशवर मंदिर जहां शिवलिंग बदल लेता था अपना स्थान 

कोनेशवर

कोनेशवर मंदिर लखनऊ 

कोनेशवर मंदिर एक प्राचीन हिंदू मंदिर है.मंदिर के निर्माण के दौरान, कई बार भक्तों और पुजारियों ने बीच में भगवान की शिवलिंग को स्थापित करने की कोशिश की लेकिन शिवलिंग अपना स्थान बदल कर पुराने स्थान पर आ जाती थी.ऐसा कहा जाता है कि यह तीन से चार रातों तक लगातार चलता रहा.एक ऋषि से परामर्श करने के बाद भगवान को कोने में अपने मूल्य स्थान पर स्थापित किया गया

अधिक पढ़ें ...

    कोनेशवर मंदिर एक प्राचीन हिंदू मंदिर है जो भगवान शिव को समर्पित है.यह प्रसिद्ध मंदिर लखनऊ के चौक में स्थित है.यहां भगवान शिव को कोनेश्वर महादेव के रूप में पूजा जाता है. मंदिर में भगवान शिव की पूजा और जलाभिषेक करना बहुत शुभ माना जाता है.लखनऊ के इस प्रसिद्ध पर्यटन स्थल पर भक्तों और पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है. हालांकि,महा शिवरात्रिऔरश्रावण मासके दौरान भीड़ दोगुनी हो जाती है. इस मंदिर को प्रत्येक सोमवरको औरमहा शिवरात्रिके शुभ दिन में फूलों से सजाया जाता है.कहते है कि जो भी भक्त यहां 40 दिन लगातार शिव जी का जलाभिषेक करता है उसकी सारी मनोकामनायें भोले बाबा पूरी करते है.

    शिवलिंग के स्थान बदलने की कहानी
    यह मंदिर कभी गोमती के पास था और त्रेता युग में वापस आता था. कुंडिल्य ऋषि ने गोमती के तट पर शिवलिंग की स्थापना की. मंदिर के निर्माण के दौरान, कई बार भक्तों और पुजारियों ने बीच में भगवान की शिवलिंग को स्थापित करने की कोशिश की लेकिन शिवलिंग अपना स्थान बदल कर पुराने स्थान पर आ जाती थी.ऐसा कहा जाता है कि यह तीन से चार रातों तक लगातार चलता रहा.एक ऋषि से परामर्श करने के बाद भगवान को कोने में अपने मूल्य स्थान पर स्थापित किया गया.तब से शिव-लिंग लिंगेश्वर महादेव के नाम से प्रसिद्ध हो गया और मंदिर का नाम कोनेशवर मंदिर पड़ गया.

    Tags: Lucknow city, Lucknow news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर