लाइव टीवी

लखनऊ: गोपनीय फाइलें चोरी होने के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन का चुनाव लटका
Lucknow News in Hindi

Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 12, 2020, 11:55 AM IST
लखनऊ: गोपनीय फाइलें चोरी होने के बाद सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन का चुनाव लटका
अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा कहते हैं कि फाइलें गायब करने के बाद भी घोटालेबाज बचेंगे नहीं.

मामले में अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा (Mohsin) ने कहा कि अब जब तक मामला साफ नहीं हो जाता, तब तक चुनाव कराया जा पाना संभव नहीं है. लिहाजा चुनावों को भी आगे बढ़ाया जाएगा.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Shia Central Waqf Board) और सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Sunni Central Waqf Board) में जमीनों की धांधली और बेईमानी की शिकायतें लगातार सामने आ रही थीं. बीजेपी सरकार (BJP Government) बनने के बाद नए अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा (Mohsin Raza) ने इसकी जांच की सिफारिश की. जिसके बाद योगी सरकार ने दोनों ही वक्फ बोर्डों में धांधली की जांच सीबीआई से कराने के लिए सिफारिश कर दी थी. वही सरकार के स्तर से भी इस मामले में कई चरणों की जांच हो भी गई थी लेकिन इस मामले में एक नया मोड़ तब आया, जब विभाग से गोपनीय फाइलें चोरी हो गईं. फाइलें चोरी होने से शासन में हड़कंप मच गया है. आनन-फानन में एक एफआईआर दर्ज करा दी गई है. वहीं मामले में अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री मोहसिन रजा कहते हैं कि फाइलें गायब करने के बाद भी घोटालेबाज बचेंगे नहीं.

मोहसिन रजा कहते हैं कि वक्फ बोर्डों में धांधली बहुत चरम पर थी और इसीलिए हमने ऑडिट की सिफारिश की थी. हमारी मंशा थी कि इस ऑडिट से सीबीआई जांच प्रभावी हो सके लेकिन पिछले 5 सालों की ऑडिट रिपोर्ट का गायब हो जाना इस बात को बताता है कि कहीं न कहीं संलिप्तता बहुत बड़े पैमाने पर थी. मोहसिन रजा ने कहा कि इन फाइलों को गायब किया गया है. दरअसल बेईमान लोगों के हाथ पांव फूले हुए हैं. उन्हें समझ नहीं आ रहा क्या करें? हम लगातार इस मामले में नजर बनाए हुए हैं.

दर्ज कराई गई एफआईआर, एसआईटी जांच भी संभव
मोहसिन रजा ने कहा कि मामले में एक एफआईआर हजरतगंज थाने में करा दी गई है. पुलिस के साथ ही इस मामले में विभागीय स्तर पर भी जांच कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो एसआईटी की जांच भी कराई जाएगी. मोहसिन रजा ने कहा कि वक्फ बोर्ड में धांधली की शिकायतों के बाद भी हमने सीबीआई की जांच के लिए केंद्र सरकार को लिखा था लेकिन इसकी जरूरत अब ज्यादा महसूस होती है. जल्द से जल्द सीबीआई जांच होनी चाहिए थी.



चोरी का मामला साफ होने तक चुनाव बढ़ाए जाएंगे


उधर शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन के दोबारा चुनाव पर भी अब इन फाइलों के गायब हो जाने के साथ ही संकट के बादल खड़े हो गए हैं. बता दें 31 मार्च को सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन का कार्यकाल खत्म हो रहा है तो वहीं 31 अप्रैल को शिया सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन का कार्यकाल खत्म हो रहा है. मोहसिन रजा ने कहा कि अब जब तक मामला साफ नहीं हो जाता, तब तक चुनाव कराया जा पाना संभव नहीं है. लिहाजा चुनावों को भी आगे बढ़ाया जाएगा.

ये भी पढ़ें:

CBI जांच से पहले ही चोरी हुईं शिया और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड के विशेष ऑडिट फाइलें

कोरोना संकट: लखनऊ में होने वाले भारत-दक्षिण अफ्रीका वनडे पर खतरे के बादल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 12, 2020, 11:49 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading