BSP के निलंबित बागी विधायक हुए एकजुट, असलम बोले- बहन जी के फैसले का स्वागत, अब हम स्वतंत्र

बसपा के बागी विधायक
बसपा के बागी विधायक

बसपा (BSP) के बागी विधायकों में असलम रायनी, असलम चौधरी, मुज्तबा सिद्दीकी, हकीम लाल बिंद, हर गोविंद भार्गव लखनऊ में एक साथ मौजूद थे. वहीं सुषमा पटेल और वंदना सिंह अपने आवास पर मौजूद रही.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में राज्यसभा चुनाव (Rajyasabha Election) के लिए 10 सीटों के लिए हुए नामांकन में बुधवार का दिन हंगामेदार रहा. रात होते-होते रिटर्निंग ऑफिसर ने आखिरकार तय कर दिया कि बहुजन समाज पार्टी (BSP) के प्रत्याशी रामजी गौतम का पर्चा वैध है. इसके साथ ही समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के समर्थन से निर्दलीय प्रत्याशी प्रकाश बजाज का पर्चा अवैध करार दिया गया.

इसके बाद गुरुवार की सुबह बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने दिल्ली में अपने आवास पर मीडिया को संबोधित करते हुए उन सभी सातों बागी विधायकों पर गाज गिराई. जिन्होंने बसपा के प्रत्याशी के नामांकन में प्रस्तावक से अपना नाम वापस लिया था. इसके साथ ही 2 विधायक और भी थे, जिन्होंने बसपा से बगावत की थी. इन सभी सातों विधायकों को पार्टी से निलंबित कर दिया है. एक तरफ बसपा सुप्रीमो का फैसला आया तो दूसरी तरफ यह सभी बागी विधायक लखनऊ में एक साथ जमा थे.

असलम चौधरी बोले- मैं बसपा में था और रहूंगा



बागी विधायकों में असलम रायनी, असलम चौधरी, मुज्तबा सिद्दीकी, हकीम लाल बिंद, हर गोविंद भार्गव एक साथ मौजूद थे. सुषमा पटेल और वंदना सिंह अपने आवास पर मौजूद रही. news18 से बात करते हुए असलम रायिनी ने कहा कि बहन जी के इस फैसले का हम स्वागत करते हैं. अब हम अपना हित तलाशने के लिए स्वतंत्र हैं. वहीं असलम चौधरी ने कहा कि मैं बसपा का पुराना कार्यकर्ता रहा हूं. बहन जी के फैसले के बाद भी हम अभी पार्टी से विधायक हैं. मैं बसपा में था और रहूंगा.


जल्द ही आगे की रणनीति का फैसला लिया जाएगा: हकीमलाल बिंद

हकीमलाल बिंद ने कहा कि हम अभी यहां पर 5 लोग इकट्ठा हैं. बाकी के विधायकों से मुलाकात करके आगे की रणनीति का फैसला लिया जाएगा. यानी कहीं ना कहीं यह बागी विधायक बसपा से दो-दो हाथ करने की तैयारी में हैं. खबरों की माने तो बसपा की सभी बागी विधायक आज अखिलेश यादव से भी मुलाकात कर सकते हैं. इससे पहले कल भी इन सभी बागी विधायकों ने अखिलेश यादव से मुलाकात की थी. कई विधायकों की मुलाकात की तो फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी. फिलहाल बागी विधायकों के पास कई मौके हैं. अब देखना यह होगा कि पार्टी से निष्कासन के बाद के बागी विधायकों का क्या रुख होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज