Assembly Banner 2021

योगी की मंत्री स्वाति सिंह की CO को कथित धमकी, DGP ने लखनऊ SSP से मांगी रिपोर्ट

योगी सरकार में मंत्री स्वाति सिंह का एक कथित ऑडियो वायरल हो रहा है.

योगी सरकार में मंत्री स्वाति सिंह का एक कथित ऑडियो वायरल हो रहा है.

इस ऑडियो में कथित तौर पर मंत्री स्वाति सिंह (Minister Swati Singh) सीधे तौर पर सीओ को एफआईआर (FIR) खत्म करने की हिदायत देती हुई सुनाई दे रही हैं. साथ ही वो ये भी कह रही हैं कि एक दिन आकर बैठ लीजिएगा, अगर यहां पर काम करना है तो.

  • Share this:
लखनऊ. धोखाधड़ी (Cheating) और ठगी (Fraud) के मामले में लखनऊ में अंसल ग्रुप (Ansal Group) के खिलाफ जांच चल रही है. मामले में ग्रुप के चेयरमैन से लेकर तमाम लोग फंसे हैं. इस बीच अंसल ग्रुप के खिलाफ दर्ज एक नई एफआईआर (FIR) को लेकर योगी सरकार (Yogi Government) में मंत्री स्वाति सिंह (Minister Swati Singh) ने लखनऊ (Lucknow) में सीओ कैंट (CO, Cant.) को फोन पर कथित तौर पर धमकी (Threat) देने का ऑडियो वायरल (Viral Audio) हो गया है. न्यूज़ 18 वायरल हुए इस कथित ऑडियो की पुष्टि नहीं करता.

इस ऑडियो में कथित तौर पर मंत्री स्वाति सिंह सीधे तौर पर सीओ को एफआईआर (FIR) खत्म करने की हिदायत देती हुई सुनाई दे रही हैं. साथ ही वो ये भी कह रही हैं कि एक दिन आकर बैठ लीजिएगा, अगर यहां पर काम करना है तो. उधर ऑडियो वायरल होने के बाद राज्य के डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने मामले में लखनऊ के एसएसपी (Lucknow SSP) से रिपोर्ट तलब की है.

Youtube Video




बता दें अंसल ग्रुप के वाइस चेयरमैन प्रणव अंसल को 29 सितंबर को दिल्ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) से हिरासत में लिया गया था. वो लंदन (London) जा रहे थे.
ऑडियो में बातचीत के अंश 
कथित वायरल ऑडियो में सुनाई दे रहा है कि एक शख्स सीओ को फोन कर कह रहा है कि माननीय मंत्री स्वाति सिंह बात करेंगीं. इसके बाद कॉल पर स्वाति सिंह आती हैं...

स्वाति सिंह- सीओ साहब, क्या आपने अंसल पर कोई एफआईआर लिखी है?
सीओ- हां, एक एफआईआर लिखी है.
स्वाति सिंह- क्यों लिखा आपने? क्या आपको पता नहीं है कि ऊपर से आदेश है कि कोई एफआईआर लिखा नहीं जाएगा. सारे फर्जी एफआईआर लिखे जा रहे हैं उसके ऊपर.
सीओ- वो तो जांच कर के एफआईआर लिखी गई है.
स्वाति सिंह- कौन सी जांच हो गई भाई? इतना हाईप्रोफाइल केस है. जांच चल रही है, सीएम साहब तक के संज्ञान में ये चीजें हैं. आपने कौन सी जांच कर दी, चार दिन हुआ आपको आए हुए?
सीओ- पहले की एप्लीकेशन है न, 5-6 महीने पहले की.
मंत्री- अरे फर्जी है ये सब, खत्म कीजिए इसको. एक दिन आकर बैठ लीजिएगा, अगर यहां पर काम करना है तो. ठीक है. मैं गलत काम नहीं बोलती हूं. पता कर लीजिएगा.
सीओ- ठीक है.

(इनपुट: ऋषभ मणि त्रिपाठी)

ये भी पढ़ें:

चिन्मयानंद मामला: HC के पीड़िता के बयान की कॉपी देने के आदेश पर SC ने लगाई रोक

BHU के छात्रों का धरना समाप्त, 30 घंटों बाद खुला विश्वविद्यालय का मुख्य द्वार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज