होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /क्लास टेस्ट में एक गलती पर शिक्षक बना हैवान! दलित छात्र को पीट-पीट कर मार डाला

क्लास टेस्ट में एक गलती पर शिक्षक बना हैवान! दलित छात्र को पीट-पीट कर मार डाला

छात्र की मौत की सूचना मिलते ही आरोपी शिक्षक अश्विनी सिंह फरार हो गया है.

छात्र की मौत की सूचना मिलते ही आरोपी शिक्षक अश्विनी सिंह फरार हो गया है.

एसपी औरैया चारू निगम ने बताया कि मामले को लेकर मुकदमा कई धाराओं में दर्ज कर लिया गया है. आरोपी टीचर फरार है. उसे पकड़ने ...अधिक पढ़ें

औरैया. उत्तर प्रदेश के औरैया जिले के अछल्दा में आर्दश इंटर कॉलेज में सामािजक विज्ञान के एक शिक्षक ने छात्र को पीट- पीट कर मौत के घाट उतार दिया. बीते 7 सितंबर को टीचर की पिटाई के बाद छात्र की उपचार कै दौरान आज मौत हो गई. टीचर ने क्लास में टेस्ट लिया था. जिसमें दलित छात्र से एक शब्द में गलती हो गई थी. जिसके लिए टीचर ने उसे डंडे, लात और घूंसों से इतना पीटा कि वह बेहोश हो गया. इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. आरोपी टीचर फरार हो गया है. आरोपी टीचर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

एसपी औरैया चारू निगम ने छात्र के घर और घटनास्थल जाकर मामले की जांच की. एसपी ने बताया कि छात्र की मौत के बाद डॉक्टरों का पैनल गठित कर पोस्टमार्टम कराया गया है. मृतक निखित कुमार दसवीं में पढ़ता था. उसके पिता राजू दोहरे ने बताया कि 7 सितंबर को सामाजिक विज्ञान के टीचर अश्वनी सिंह ने क्लास का टेस्ट लिया. टेस्ट के लिए उनके बेटे ने खूब पढ़ाई भी की थी. वह पढ़ने में ठीक था, लेकिन टेस्ट में उससे कोई शब्द गलत लिख गया. उसी बात को लेकर टीचर अश्वनी सिंह ने छात्र को बाल पकड़ कर लात घूंसों और डंडों से इतना पीटा कि वह स्कूल में ही बेहोश हो गया.

राजू बताते हैं कि बच्चे के बेहोश होने की जानकारी मिलने के बाद वे लोग स्कूल पहुंचे तो पहले उन्हें डराया धमकाया गया. हालांकि जब उनलोगों ने विरोध किया तो प्रिंसिपल की दखल के बाद टीचर अश्वनी सिंह ने छात्र का इलाज इटावा के एक प्राइवेट अस्पताल में कराने को तैयार हुए. डाक्टरों ने बताया कि बच्चे को अंदरुनी चोटें आई हैं. दो दिन पहले डाक्टरों ने बच्चे को लखनऊ रेफर कर दिया.

आपके शहर से (लखनऊ)

राजू दोहरे ने बताया कि इसकी जानकारी जब उनलोगों ने अश्वनी सिंह को दी तो वह नाराज हो गया. और उन्हें गालियां देने लगे. जिसके बाद वे लोग रविवार को थाना गए और रिपोर्ट लिखाई. बच्चे को अस्पताल से घर ले आए. पुलिस ने छात्र की हालत को देखते हुए उसे इलाज के लिए सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी में एडमिट करा दिया. जहां सोमवार सुबह निखित की मौत हो गई.

बच्चे निखित की मौत की खबर मिलते ही आरोपी टीचर फरार हो गया. कॉलेज बंद कर दिया गया है. दलित बच्चे की मौत की खबर मिलते ही भीम आर्मी के सदस्य गांव पहुंच गए. गांव में तनाव को देखते हुए फोर्स को तैनात कर दिया गया है.

एसपी औरैया चारू निगम ने बताया कि मामले को लेकर मुकदमा कई धाराओं में दर्ज कर लिया गया है. आरोपी टीचर फरार है. उसे पकड़ने की कोशिश की जा रही है. मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Tags: Auraiya news, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें