लाइव टीवी

UP कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए 10 वरिष्ठ नेताओं को दिखाया बाहर का रास्ता

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 24, 2019, 7:30 PM IST
UP कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए 10 वरिष्ठ नेताओं को दिखाया बाहर का रास्ता
UP कांग्रेस ने अपने 10 वरिष्ठ नेताओं को दिखाया बाहर का रास्ता

दरअसल प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व ने पार्टी की प्रदेश इकाई के बारे में कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व द्वारा लिये गये निर्णयों का विरोध करने का आरोप लगाते हुए गुरुवार को 10 वरिष्ठ नेताओं को नोटिस जारी करके 24 घंटे में जवाब मांगा था.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी (UP Congress Committee) की अनुशासन समिति ने पार्टी विरोधी गतिविधियों को लेकर सूबे के 10 वरिष्ठ नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया है. इन नेताओं को 6 साल के लिए कांग्रेस पार्टी से बाहर किया गया है. इस कदम से पार्टी ने यह भी साफ कर दिया है कि अब यूपी कांग्रेस में अनुशासनहीनता (Indiscipline) किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति ने जिन 10 नेताओं को पार्टी से बाहर निकाला है, उनमें पूर्व सांसद संतोष सिंह, पूर्व एमएलसी सिराज मेंहदी, उत्तर प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री रामकृष्ण द्विवेदी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी, राजेंद्र सिंह सोलंकी, पूर्व विधायक भूधर नारायण मिश्रा, पूर्व विधायक विनोद चौधरी, पूर्व विधायक नेक चंद्र पांडेय, उत्तर प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष स्वयं प्रकाश गोस्वामी और गोरखपुर के पूर्व जिलाध्यक्ष संजीव सिंह शामिल हैं.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति ने जारी किया पत्र
उत्तर प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति ने जारी किया पत्र


नेताओं को नोटिस जारी करते हुए मांगा था जवाब

दरअसल प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व ने पार्टी की प्रदेश इकाई के बारे में कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व द्वारा लिये गये निर्णयों का विरोध करने का आरोप लगाते हुए गुरुवार को 10 वरिष्ठ नेताओं को नोटिस जारी करके 24 घंटे में जवाब मांगा था. प्रदेश कांग्रेस की अनुशासन समिति के सदस्य पूर्व विधायक अजय राय ने वह नोटिस पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के निर्देश पर जारी किया था.

नोटिस में लिखा था- मीडिया में दिए बयानों से पार्टी की छवि भूमिल हुई
उत्तर प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति के सदस्य पूर्व विधायक अजय राय की ओर से भेजे गए इस नोटिस में लिखा गया है कि 'आप लोगों द्वारा विगत कुछ समय से प्रदेश कांग्रेस कमेटी से संबंधित अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्णयों पर लगातार अनावश्यक रूप से सार्वजनिक तौर पर बैठक कर विरोध किया जा रहा है. इन बैठकों और मीडिया में दिए बयानों से कांग्रेस पार्टी की छवि धूमिल हुई है. आप जैसे वरिष्ठ नेताओं से ऐसी अपेक्षा नहीं थी.आपका यह आचरण पार्टी की नीतियों और आदर्शों के विपरीत है. आप लोगों का ये कृत्य अनुशासनहीनता की परिधि में आता है. इसलिए आप सभी को कांग्रेस संविधान की अनुशासनात्मक धाराओं के तहत अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की अनुमति से पार्टी की प्राथमिकता सदस्यता से 6 वर्ष के लिए तत्काल प्रभाव से निष्कासित किया जाता है.

ये भी पढ़ें:

गोरखपुर AIIMS और फर्टिलाइजर चालू होने के बाद नौजवानों को यहीं मिलेगी नौकरी: सीएम योगी

लखनऊ पुलिस से नहीं मिला न्याय, युवक ने बापू भवन के सामने खुद को लगाई आग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 6:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर