Lucknow News: अस्‍पताल ने कोरोना मरीज के परिवार को थमाया 19 लाख बिल, 9 लाख चुकाने के बाद भी नहीं दिया शव

अस्‍पताल के खिलाफ मृतका के पति ने डीएम से शिकायत की है. ( सांकेतिक फोटो)

अस्‍पताल के खिलाफ मृतका के पति ने डीएम से शिकायत की है. ( सांकेतिक फोटो)

Lucknow News: लखनऊ के एक प्राइवेट अस्‍पताल ने कोरोना पीड़ित महिला के इलाज के तौर पर उसके पत्‍नी को 19 लाख से ज्‍यादा का बिल थमाया.

  • Share this:

लखनऊ. कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के साथ उत्‍तर प्रदेश में आईसीयू बेड्स और ऑक्‍सीजन (Oxygen) की कमी का संकट खत्‍म हो गया है, लेकिन अस्‍पतालों के भारी भरकम बिल से कोरोना पीड़ित बेबस नजर आ रहे हैं. इस बीच लखनऊ से एक सनसनीखेज खबर आयी है, जिसने अस्‍पतालों की मनमानी की पोल एक बार फिर खोलकर रख दी है.

दरअसल, यूपी के उन्‍नाव के रहने वाले अनिल कुमार ने अपनी कोरोना पीड़‍ित पत्‍नी को लखनऊ के प्राइवेट अस्‍पताल में भर्ती कराया था. कई दिनों तक इलाज चलने के बाद उनकी पत्‍नी ने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि अब बकाया बिल न चुकाने के कारण अस्‍पताल शव नहीं दे रहा है. उधर इस मामले में अस्पताल का कहना है कि आरोप निराधार है. परिजनों को शव सौंप दिया गया है.

अस्पताल पर ये आरोप 

अस्‍पताल ने उन्‍नाव के रहने वाले अनिल कुमार को कोरोना पीड़ित पत्‍नी के इलाज के तौर पर 19 लाख 20 हजार रुपये का बिल थमाया. हालांकि इसमें से वह 8 लाख 85 हजार रुपये अस्‍पताल को दे चुके हैं, तो अभी 10 लाख 75 हजार का बिल बकाया है. इसी वजह से अस्‍पताल अनिल को उसकी पत्‍नी का शव नहीं दे रहा है.
ये भी पढ़ें- ढोल-नगाड़े की धुन पर जमकर नाचे बाराती, खुशी-खुशी उड़ाई दावत, फिर दुल्हन के इस कदम से बैरंग लौटा दूल्‍हा

इस बाबत पीड़ित ने कहा कि रविवार यानी 30 मई को मेरी पत्‍नी का निधन हो गया और जब मैंने अस्‍पताल से उसका शव मांगा तो वह बकाया बिल मांगने लगे, लेकिन अब मेरे पास पैसा नहीं है. यही नहीं, अस्‍पताल बार-बार 10 लाख 75 हजार रुपये के बकाया बिल के लिए दबाव डाल रहा है. वैसे इस मामले को लेकर पीड़ित अनिल कुमार ने लखनऊ के डीएम से शिकायत की है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई न होने की वजह से मृतका का शव अस्‍पताल में ही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज