लाइव टीवी

राम मंदिर पर आए फैसले के बाद अयोध्या में लगने लगा श्रद्धालुओं का तांता

भाषा
Updated: November 14, 2019, 5:14 PM IST
राम मंदिर पर आए फैसले के बाद अयोध्या में लगने लगा श्रद्धालुओं का तांता
अयोध्या में भक्तों का तांता

शिवम ने कहा, ‘मैं अयोध्या (Ayodhya) आने के लिए बहुत उत्साहित था और मैंने अपने दो दोस्तों के साथ राम (Lord Ram) की नगरी में आने और मंदिर के लिए मेरा योगदान देने का फैसला किया.’

  • Share this:


अयोध्या. उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने नौ नवंबर को अयोध्या मामले में महत्वपूर्ण फैसला सुनाया जिसके बाद अयोध्या आने वाले  राम भक्तों (Ram Devotees) की संख्या बढ़ गयी है. इन्हीं भक्तों में से एक है शिवम. बिहार के रोहतास जिले का शिवम कुमार ‘जय श्री राम’ छपा पीला कुर्ता पहनकर और माथे पर तिलक लगाकर अयोध्या दर्शन करने आया है और यह किशोर राम मंदिर की कार्यशाला में दान के लिए अपने थैले में कुछ ईंटें भी लाया है.

सरयू नदी स्नान के लिए उमड़ी भीड़
शिवम ने कहा, ‘मैं अयोध्या आने के लिए बहुत उत्साहित था और मैंने अपने दो दोस्तों के साथ राम की नगरी में आने और मंदिर के लिए मेरा योगदान देने का फैसला किया.’ सोलह साल के किशोर के साथ ही लाखों ऐसे लोग हैं जो मंगलवार को ‘कार्तिक पूर्णिमा’ पर सरयू नदी में स्नान के लिए यहां जमा हुए थे. रोहतास जिले के डेहरी ऑन सोन का रहने वाला शिवम विज्ञान विषय में स्नातक की पढ़ाई कर रहा है.

कार्यशाला में बढ़ी लोगों की संख्या
विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता शरद शर्मा ने माना कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद मंदिर की कार्यशाला में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या तेजी से बढ़ी है. उन्होंने मीडिया से कहा,‘शनिवार रात को बड़ी संख्या में लोग कार्यशाला में आए और पिछले कुछ दिन में यह संख्या बढ़ गयी है. आमतौर पर रोजाना कार्यशाला में करीब 1000 लोग आते हैं. अब यह संख्या बढ़कर 5000 हो गई है. कारसेवकपुरम की कार्यशाला पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गयी है.’


‘रामशिला’ के आगे सेल्फी ले रहे हैं लोग

Loading...

सुदूर गुजरात से लेकर उत्तर प्रदेश के अन्य शहरों से यहां पहली बार आने वाले भी बड़ी संख्या में हैं.
मुरादाबाद से आए 20 साल के केपी यादव को विहिप द्वारा रखी गयी ‘रामशिला’ के आगे सेल्फी लेते हुए देखा गया. उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ से आए गौरव वैश्य (16) और जाह्नवी वैश्य (14) पहली बार अपने माता-पिता के साथ अयोध्या आए हैं.

उनके पिता राकेश कुमार ने कहा कि कार्तिक पूर्णिमा स्नान के लिए उनका परिवार अयोध्या आया था लेकिन इसी बीच उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद उनकी यह यात्रा और खास हो गयी.


ये भी पढ़ें: 


योगी सरकार का प्‍लान, सांडों की नसबंदी काे लेकर चलेगा बड़ा अभियान


आगरा: अक्षरों से अनजान ये बच्‍चे अब ‘घुमंतू पाठशाला’ में कर रहे हैं कमाल




News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 5:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...