Home /News /uttar-pradesh /

चंदौली के अतिनक्सल प्रभावित इलाके नौगढ़ में दबंगों की दबंगई

चंदौली के अतिनक्सल प्रभावित इलाके नौगढ़ में दबंगों की दबंगई

उत्तर-प्रदेश में चंदौली के अति नक्सल प्रभावित इलाके नौगढ़ में महिलाएं और पुरुषों ने लाठी लिए जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर हंगामा और धरना प्रदर्शन किया. दरअसल जंगल में रहने वाले इन लोगों का आरोप है कि प्रशासन और वन विभाग की मदद से कुछ दबंग इन लोगों को जंगलों की भूमि से हटाने का प्रयास कर रहे हैं.

उत्तर-प्रदेश में चंदौली के अति नक्सल प्रभावित इलाके नौगढ़ में महिलाएं और पुरुषों ने लाठी लिए जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर हंगामा और धरना प्रदर्शन किया. दरअसल जंगल में रहने वाले इन लोगों का आरोप है कि प्रशासन और वन विभाग की मदद से कुछ दबंग इन लोगों को जंगलों की भूमि से हटाने का प्रयास कर रहे हैं.

उत्तर-प्रदेश में चंदौली के अति नक्सल प्रभावित इलाके नौगढ़ में महिलाएं और पुरुषों ने लाठी लिए जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर हंगामा और धरना प्रदर्शन किया. दरअसल जंगल में रहने वाले इन लोगों का आरोप है कि प्रशासन और वन विभाग की मदद से कुछ दबंग इन लोगों को जंगलों की भूमि से हटाने का प्रयास कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...
उत्तर-प्रदेश में चंदौली के अति नक्सल प्रभावित इलाके नौगढ़ में महिलाएं और पुरुषों ने लाठी लिए जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर हंगामा और धरना प्रदर्शन किया. दरअसल जंगल में रहने वाले इन लोगों का आरोप है कि प्रशासन और वन विभाग की मदद से कुछ दबंग इन लोगों को जंगलों की भूमि से हटाने का प्रयास कर रहे हैं.

पीड़ितों का कहना है कि उनके मकान को दबंग तोड़कर जबरदस्ती कब्जा किए हुए हैं. पीड़ितों की मांग है कि जब तक वे डीएम से नहीं मिल लेते तब तक वे जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर यूं ही धरना देते रहेंगे.

दबंगों की दंबंगई को लेकर लोगों के बार-बार शिकायत किए जाने के बाद भी पुलिस चुप्पी साधे हुई है. बता दें कि साल 2006 में वनाधिकार कानून लागू हुआ था, जिसके तहत इन लोगों जंगल में रहने का अधिकार प्राप्त है और कई पीढ़ी से ये यहां रहते भी आ रहे हैं, लेकिन अब अधिकारियों द्वारा इन्हें जंगल से बेदखल करने का प्रयास किया जा रहा है. यही वजह है कि हथियार से लैस होकर आए दिन दबंग जंगल में रह रहे लोगों के साथ मारपीट करते हैं.

बता दें कि जंगल में रह रहे लोग इससे पहले भी चकिया तहसील से लेकर नौवगढ़ तक अपनी आवाज बुलंद कर चुके हैं, लेकिन झूठा आश्वासन देकर इन्हें वापस भेज दिया गया था.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

 

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर