• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • LUCKNOW THIS MEANS FOR YOU KNOW WHY PANCHAYAT ELECTION IN UP WILL BE DIFFERENT FROM BEFORE ELECTIONS UPAS

आपके लिए इसका मतलब! जानिए UP में इस बार का पंचायत चुनाव किन मामलों में पहले से होगा अलग

UP: यूपी में पंचायत चुनाव में इस बार काफी बदलाव देखने को मिलेगा.

UP Panchayat Election: ये ऐसा चुनाव होता है जो बाकी सभी चुनावों से अलग होता है. इन चुनावों में व्यक्तिगत रिश्ते पर ही ज्यादातर वोट पड़ता है. फिर भी इस बार के पंचायत चुनाव अब से पहले हुए चुनावों से अलग होगा.

  • Share this:
लखनऊ. यूपी में अगले कुछ महीनों में पंचायत के इलेक्शन (UP Panchayat Election) होने जा रहे हैं. इसमें 3 तरह के चुनाव होते हैं. पहला जिला पंचायत, दूसरा क्षेत्र पंचायत और तीसरा ग्राम पंचायत. इसीलिए इसे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कहते हैं. पंचायतों का कार्यकाल 25 दिसम्बर को ही खत्म हो गया है. सभी पदों पर सरकार ने प्रशासन नियुक्त किया है. वैसे तो ये नौबत नहीं आनी चाहिए लेकिन, कोरोना काल में देरी हुई है. अब चुनाव सर पर आ गए हैं और गांव-गांव में इसकी सरगर्मी देखने को मिल रही है. ये ऐसा चुनाव होता है जो बाकी सभी चुनावों से अलग होता है. इन चुनावों में व्यक्तिगत रिश्ते पर ही ज्यादातर वोट पड़ता है. फिर भी इस बार के पंचायत चुनाव अब से पहले हुए चुनावों से अलग होगा. आइये जानते हैं कैसे…

पंचायत के चुनाव शायद मार्च तक हो जाएं. ये चुनाव 2022 विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हो रहे हैं. प्रदेश की सरकार के लिए वोट देने से पहले लोग गांव की सरकार बनाएंगे. ये चुनाव विधानसभा और लोकसभा के चुनाव से भले ही अलग हो लेकिन, बड़े नेताओं की भी इसमें जबर्दस्त रुचि रहती है. ऐसा इसलिए क्योंकि ग्राम प्रधान हो या जिला पंचायत अध्यक्ष, अपने हलके में वोटरों को जमा करने में काफी अहम रोल निभाता है. ऐसे में पंचायत चुनावों के नतीजों से गांव-गांव में राजनीतिक दलों के भी जनाधार का आकलन किया जा सकेगा. गांव की सरकार प्रदेश में सरकार बनाने के लिए रास्ता बनाएगी.
Published by:Ajayendra Rajan Shukla
First published: