आज सोनभद्र जाएंगे CM योगी, सुरक्षा के किए गए कड़े इंतजाम

सीएम ने कहा कि सोनभद्र में जो घटना घटी है, उसकी नींव 1955 में रखी गई थी. इस पूरे प्रकरण में ग्राम पंचायत की जमीन को 1955 में आदर्श सोसाइटी के नाम पर दर्ज कर किया गया था.

News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 8:36 AM IST
आज सोनभद्र जाएंगे CM योगी, सुरक्षा के किए गए कड़े इंतजाम
मृतकों के परिजन से मुलाकात करने आज CM योगी जाएंगे सोनभद्र. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 8:36 AM IST
उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में हुए नरसंहार के बाद अब देशभर में सियासी घमासान मचा है. इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को सोनभद्र जाएंगे. इस दौरान वे मृतकों के परिजन से मुलाकात करेंगे. साथ ही सीएम घायलों का भी हालचाल लेंगे. इसके बाद सोनभद्र कलेक्ट्रेट में प्रेस वर्ता करेंगे. इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सोनभद्र हत्याकांड के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया था. योगी ने कहा था कि इस घटना की नींव 1955 में ही पड़ गई थी, जब कांग्रेस की सरकार थी. सोनभद्र के विवाद के लिए 1955 और 1989 की कांग्रेस सरकार दोषी है.

सोनभद्र हत्याकांड के लिए कांग्रेस जिम्मेदार

सीएम ने कहा कि सोनभद्र में जो नरसंहार हुआ है, उसकी नींव 1955  में रखी गई थी. इस पूरे प्रकरण में ग्राम पंचायत की जमीन को 1955 में आदर्श सोसायटी के नाम पर दर्ज किया गया था. इस जमीन पर वनवासी समुदाय के लोग खेती बाड़ी करते थे. बाद में इस जमीन को किसी व्यक्ति के नाम 1989 में कर दिया गया. 1955 में कांग्रेस की सरकार थी.

डीजीपी को दिए निर्देश

सोनभद्र नरसंहार के मामले में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मैंने खुद डीजीपी को निर्देश दिया है कि वे व्यक्तिगत तौर पर मामले की निगरानी करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जमीन पर काफी समय से विवाद था. योगी ने जानकारी दी कि वारदात के बाद एसडीएम, सीओ, एसओ सहित हल्का और बीट के सभी सिपाही निंलबित कर दिए गए हैं. साथ ही इस जमीनी विवाद की जांच अपर मुख्य सचिव राजस्व को सौंप दी गई है.

जांच कमेठी गठित 

योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, '' दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. सोनभद्र में हुई हत्या की जांच एक कमिटी करेगी. जो भी दोषी हैं उनको छोड़ा नहीं जाएगा.'' उन्होंने कहा कि 1952 से लेकर अब तक के पूरे घटनाक्रम की जांच की जाएगी. उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी सहित 27 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. सीएम ने कहा कि जांच के बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
Loading...

क्या था मामला

बता दें कि 17 जुलाई को प्रधान यज्ञदत्त  करीब 200 लोगों को लेकर घोरावल थाना इलाके के उम्भा गांव पहुंचा. उन लोगों के पास गंड़ासे और अवैध तमंचे थे. प्रधान ट्रैक्टरों से खेत की जबरन जुताई करवाने लगा. इस पर ग्रामीणों ने विरोध किया तो प्रधान के समर्थकों ने उन पर हमला कर दिया था.

ये भी पढ़ें: बिजली विभाग ने उपभोक्ता को भेजा एक अरब 28 करोड़ 45 लाख का बिल

गाजियाबाद में भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या, थानाध्यक्ष सस्पेंड

मोदी की फोटो छपी टी-शर्ट पहन कांवड़ ला रहे हैं भक्त, जिस पर लिखा है ‘द किंग ऑफ इंडिया’
First published: July 21, 2019, 7:13 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...