Covid19: स्कूलों से छुट्टी पाए बच्चों को ज्यादा देर मोबाइल देखने से रोकें वर्ना आंखों पर हो सकता है घातक असर
Lucknow News in Hindi

Covid19: स्कूलों से छुट्टी पाए बच्चों को ज्यादा देर मोबाइल देखने से रोकें वर्ना आंखों पर हो सकता है घातक असर
बच्चों को ज्यादा देर न दें मोबाइल फोन

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) के नेत्र रोग विभाग (Ophthalmology Department) की HOD डॉ. अपजीत कौर (Dr. Prof. Apjit Kaur) का कहना है कि 20 मिनट से ज्यादा किसी भी व्यक्ति को कोई भी डिजिटल स्क्रीन (Digital screen) नहीं देखनी चाहिए...

  • Share this:
लखनऊ. बहुत से माता-पिता कोरोना (Covid-19) के चलते बच्चों के स्कूल बंद होने से खासा परेशान हैं. कहते हैं न कि किसी बड़े लक्ष्य को हासिल करने के लिए छोटी मुश्किलें उठानी पड़ती हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण (Covid-19 infection) को फैलने से रोकने के लिए एहतियातन उठाए गए कदमों की भी यही कहानी है. स्कूलों में हुई छुट्टी के बाद घर में रहने को मजबूर बच्चों और उनके अभिभावकों के सामने यह बड़ी मुश्किल है कि समय कैसे काटा जाए खासकर बच्चों का मनोरंजन (entertainment) कैसे किया जा सके क्योंकि इन हालात में उन्हें दूसरी सार्वजनिक जगहों (public places) पर भी नहीं ले जाया जा सकता.

आंखों के लिए घातक है स्क्रीन पर नजरें गड़ाए रखना
लिहाजा ज्यादातर बच्चों का समय इन दिनों घरों में मोबाइल फोन (Mobile phone) पर गेम या फिर टीवी पर कार्टून देखने में ही बीत रहा है लेकिन डाक्टरों का मानना है कि उनकी आंखों की सेहत के लिए ये बिल्कुल भी अच्छा नहीं है. ज्यादा देर मोबाइल (cell phone), आईपैड (i-pad), लैपटॉप (laptop) या फिर टीवी देखना बच्चों की आंखों के लिए घातक हो सकता है. लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) के नेत्र रोग विभाग (Ophthalmology Department) की HOD डॉ. अपजीत कौर (Dr. Prof. Apjit Kaur) का कहना है कि 20 मिनट से ज्यादा किसी भी व्यक्ति को कोई भी डिजिटल स्क्रीन (Digital screen) नहीं देखनी चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आंखों की परत सूखने (Dry eye) लगती है. इससे आंखों में दर्द पैदा होता है और फिर इंसान आंखों को रगड़ना शुरू कर देता है जिसकी वजह से हाथों से कोई भी इंफेक्शन आंखों में पहुंच जाने का खतरा होता है.

तो फिर क्या करें
डॉ. कौर ने बताया कि हर 20 मिनट के बाद कुछ देर के लिए स्क्रीन देखना बन्द कर देना चाहिए और पलक झपकाना चाहिए. ऐसा करने से आंखों में लिक्विड की लेयर (Liquid layer) आंखों के ऊपर आ जाती है और उसे ड्राई होने से बचाती है. पलक झपकने के बाद लुब्रिकेंट की लेयर (Layer of lubricant) आंखों पे बिछ जाती है साथ ही कॉर्निया को ऑक्सीजन (oxygen to the cornea) भी मिल जाती है. इसलिए ये एक्सरसाइज बच्चों को तो रेगुलर तौर पर करवाते ही रहें और बड़े भी इसे दोहराते रहें.



 

ये भी पढ़ें- Coronavirus effect: नोएडा के बाद लखनऊ में पकड़ी गई नकली सैनेटाइजर फैक्ट्री, दो आरोपी गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading