यूपी में स्वाइन फ्लू का कहर, अब तक 695 लोग मिले पीड़ित, 24 की हो चुकी है मौत

ETV UP/Uttarakhand
Updated: August 13, 2017, 6:52 PM IST
यूपी में स्वाइन फ्लू का कहर, अब तक 695 लोग मिले पीड़ित, 24 की हो चुकी है मौत
उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह
ETV UP/Uttarakhand
Updated: August 13, 2017, 6:52 PM IST
सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखपुर में प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि प्रदेश में स्वाइन फ्लू एक बड़ी समस्या बनती जा रही है.

सीएम के इस बयान के पीछे अहम कारण ये है कि सूबे में लगातार स्वाइन फ्लू के मरीज लगातार सामने आ रहे हैं. रविवार को राजधानी लखनऊ में ही स्वाइन फ्लू के 41 नए मरीज़ मिले. आंकड़ों के अनुसार अभी तक पूरे यूपी में 695 लोगों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है. ​

इनमें अकेले लखनऊ में ही कुल 394 मरीज़ फ्लू मिल चुके हैं. रविवार को लखनऊ के अलावा गाजियाबाद में 8 और मेरठ में 4 नए मरीज मिले. अब तक उत्तर प्रदेश में 24 लोगों की स्वाइन फ्लू से मौत हो चुकी है.

उधर स्वाइन फ्लू को लेकर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है. उधर सरकार ने राजधानी के साथ ही स्वाइन फ्लू से प्रभावित प्रमुख जिले गाजियाबाद, नोएडा और मेरठ के सीएमओ को भी एलर्ट पर रहने का निर्देश जारी किया है.

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने रविवार को साफ कर दिया ​है कि जिस भी जिले में लापरवाही पाई गई, उस जिले के सीएमओ की कुर्सी जाएगी.

जानकारी के अनुसार लखनऊ में तय किया गया है कि स्वाइन फ्लू के मरीजों को घर पर इलाज दिया जाएगा. स्वास्थ्य विभाग स्वाइन फ्लू के मरीजों के घर टेमी फ्लू और मास्क पहुंचाएगा. बेहतर चिकित्सा व्यवस्था के लिए राजधानी लखनऊ को 7 जोनों में बांटा गया है.

इसमें एडिशनल सीएमओ को प्रत्येक जोन का इंचार्ज बनाया गया है. लापरवाही पाए जाने पर एडिशनल सीएमओ के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इसके अलावा राजधानी में सभी सरकारी डॉक्टरों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं.

इस बीच उत्तर प्रदेश शासन स्तर भी स्वाइन फ्लू को लेकर सतर्क हो गया है. रविवार को स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने शासन के अफसरों के साथ हाईलेवल मीटिंग की. इस दौरान उन्होंने अफसरों को स्वाइन फ्लू को लेकर गंभीर रहने की बात कही.

उन्होंने प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी मास्क और दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. साथ ही स्वाइन फ्लू प्रभावित प्रमुख जिलों लखनऊ, गाजियाबाद, नोएडा, मेरठ के सीएमओ को आवश्यक कार्रवई के निर्देश दिए. उन्होंने साफ किया कि जिस भी जिले में लापरवाही पाई गई, उसके सीएमओ की कुर्सी जाएगी.
First published: August 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर