लाइव टीवी

योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता से कांग्रेस के पेट में होने लगा है दर्द: परिवहन मंत्री अशोक कटारिया
Lucknow News in Hindi

Kumari Ranjana | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 20, 2020, 3:07 PM IST
योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता से कांग्रेस के पेट में होने लगा है दर्द: परिवहन मंत्री अशोक कटारिया
यूपी की जनता ने सीएम योगी का गुणगान करना शुरू कर दिया तो कांग्रेस के पेट में दर्द होने लगा. (फाइल फोटो)

परिवहन मंत्री अशोक कटारिया (Ashok Katariya ) ने कहा है कि कांग्रेस (Congress) श्रमिकों के आंखों में धूल झोंक रही है क्योंकि योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की सरकार के कामकाज और लोकप्रियता को देखकर कांग्रेस के पेट में दर्द होने लगा है.

  • Share this:
लखनऊ. श्रमिकों को घर पहुंचाने के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश में सियासत जारी है. परिवहन मंत्री अशोक कटारिया (Ashok Katariya ) ने कहा है कि कांग्रेस (Congress) श्रमिकों के आंखों में धूल झोंक रही है क्योंकि योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की सरकार के कामकाज और लोकप्रियता को देखकर कांग्रेस के पेट में दर्द होने लगा है. परिवहन मंत्री ने कहा कि, '27 मार्च से 31 मार्च तक पहला श्रमिक ऑपरेशन 5 से 6 लाख मजदूरों को घर पहुंचाने का हमने चलाया, उस समय कांग्रेस कहां थी. उन्होंने कहा कि सरकार प्रवासियों का भरण पोषण कर रही है, मुफ्त राशन दे रही है, असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को ₹1000 भी पहुंचा रही है, यानी हर मजदूर के लिए काम कर रही है योगी सरकार.

क्या ऐसे वाहनों से कामगारों को लेकर आएंगे
परिवहन मंत्री ने कहा कि, जब यूपी की जनता ने सीएम योगी का गुणगान करना शुरू कर दिया तो कांग्रेस के पेट में दर्द होने लगा. मुख्यमंत्री की शानदार छवि को धूमिल करने का एक गंदा प्रयास है कांग्रेस का. परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने कहा कि, कांग्रेस ने एक प्रस्ताव रखा, सरकार ने सूची भेजने के लिए कहा. सूची भेजने के बाद उसका निरीक्षण किया जाता है. सूची का निरीक्षण बिना किए उन्होंने क्यों भेजा और जो सूची आई उसमें एंबुलेंस, ट्रक, ऑटो के नंबर हैं. हम सूची का निरीक्षण कैसे न करें. क्या ऐसे वाहनों से कामगारों को लेकर आएंगे जिन वाहनों की फिटनेस नहीं है, इंश्योरेंस नहीं है, क्या ऐसे वाहनों से लाएंगे.

यह आंखों में धूल झोंकने का प्रयास है



कटारिया ने कहा कि, 'कामगार उत्तर प्रदेश का मालिक है. वह यूपी का सम्मानित नागरिक है. उसकी जान को जोखिम में नहीं डाल सकते. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार राजनीति नहीं सेवा कर रही है वह जनता के सुख दुख में भागीदार बन रही है. 6494 बसों से पहली बार हम नागरिकों को वापस लेकर आए. हम हरियाणा से 251 बसों से, मध्य प्रदेश से 250 बसों से लोगों को लेकर आए. प्रयागराज और अलीगढ़ से छात्रों को 659 बसों से लेकर आए. हमारी लगभग 12000 बसें रात-दिन सड़कों पर दौड़ रही हैं. सीएम के निर्देशन में सब कुछ हो रहा है. अगर हमको बसें लेनी ही होगी तो हम कांग्रेस से क्यों लेंगे. सीधे हम राजस्थान सरकार से बात कर सकते हैं. कांग्रेस ने अपनी बसों को देने के लिए कहा था, सरकार से ही लेना है तो हम किसी भी सरकार से ले सकते हैं. यह आंखों में धूल झोंकने का प्रयास है यह मूर्ख बनाने का प्रयास है.'



ये भी पढ़ें - 

बच्चे ने खरीदी पतंग तो उलझ गई पति-पत्नी की डोर, पिटकर पति ने दिया 3 तलाक

प्रियंका गांधी के निजी सचिव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पर धोखाधड़ी का मुकदमा
First published: May 20, 2020, 2:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading