COVID-19: बैठक से पहले 2 मिनट का मौन रखकर सीएम योगी के पिता को दी गई श्रद्धांजलि
Lucknow News in Hindi

COVID-19: बैठक से पहले 2 मिनट का मौन रखकर सीएम योगी के पिता को दी गई श्रद्धांजलि
सीएम योगी के पिता को दी गई श्रद्धांजलि

इससे पहले सोमवार को पिता की मौत की सूचना सीएम योगी आदित्यनाथ को टीम 11 की बैठक के दौरान मिल गई थी. लेकिन वे इस दौरान विचलित नहीं हुए और अपना काम उन्होंने लगातार जारी रखा

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2020, 1:30 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के पिता आनंद सिंह बिष्ट का सोमवार सुबह दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया. वहीं मंगलवार को हरिद्वार के गंगा व हेवल नदी के संगम पर फूल चट्टी घाट पर सीएम योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट का विधि विधान के साथ दाह संस्कार किया गया. इसी क्रम में आज टीम 11 की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से निपटने के मामले में अधिकारियों को कई निर्देश दिए. वहीं बैठक से पहले 2 मिनट का मौन रखकर सीएम योगी के पिता को श्रद्धांजलि दी गई. बता दें कि 89 वर्ष के आनंद बिष्ट किडनी और लिवर की समस्या से पीड़ित थे.

सीएम योगी ने दिए निर्देश

इस दौरान सीएम योगी ने टीम-11 की बैठक में निर्देश दिए हैं कि कोरोना वायरस संक्रमण की प्रभावी रोकथाम हेतु पूल टेस्टिंग और प्लाज्मा थेरेपी को बढ़ावा दिया जाए. उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था हो कि मेडिकल एवं पुलिस टीम, संक्रमण से सुरक्षित रहे.



सूचना मिलने पर भी जारी रखी बैठक
इससे पहले सोमवार को पिता की मौत की सूचना सीएम योगी आदित्यनाथ को टीम 11 की बैठक के दौरान मिल गई थी. लेकिन वे इस दौरान विचलित नहीं हुए और अपना काम उन्होंने लगातार जारी रखा. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने को लेकर जारी इस बैठक में उन्होंने जरूरी दिशा निर्देश दिए. हालांकि इस दौरान उनकी आंखें नम जरूर थीं.

अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हुए सीएम योगी

उधर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना महामारी से लड़ाई की जिम्मेदारी को सर्वोपरि बताते हुए अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल न होने की बात कही है. साथ ही उन्होंने अपनी मां और अन्य परिजनों से अपील की है कि हरिद्वार में होने वाले अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कम से कम लोग ही शामिल हों. साथ ही उन्होंने अपने माताजी से कहा है कि वे लॉक डाउन खत्म होने के बाद खुद उनके दर्शन करने पहुंचेंगे.

ये भी पढ़ें:

Lockdown: कुशीनगर में फंसे 175 विदेशी बौद्ध भिक्षु, तंबुओं में ली पनाह

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज