होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Twitter War: आचार्य प्रमोद ने कहा- जेब में लाल टोपी रखने से कोई नेता नहीं बनता, सपा ने दिया करारा जवाब

Twitter War: आचार्य प्रमोद ने कहा- जेब में लाल टोपी रखने से कोई नेता नहीं बनता, सपा ने दिया करारा जवाब

आचार्य प्रमोद कृषणम के ट्वीट के बाद उत्तर प्रदेश में राजनीति गर्मा गई है. (फोटो ट्वीटर से साभार)

आचार्य प्रमोद कृषणम के ट्वीट के बाद उत्तर प्रदेश में राजनीति गर्मा गई है. (फोटो ट्वीटर से साभार)

आचार्य प्रमोद कृष्‍णम के Tweet के बाद सपा नेताओं ने बोला हमला, कहा- जिसके चरित्र चित्रण की चर्चा आज तक गाजियाबाद में है उसके मुंह से सस्ते तंज शोभा नहीं देते.

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले राजनीतिक सुगबुगाहट शुरू हो गई है. राजनेता एक दूसरे पर करारे तंज कसने से पीछे नहीं हट रहे हैं. इसी के चलते कांग्रेस के नेता आचार्य प्रमोद कृष्‍णम ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर हमला करते हुए बोला कि योगी का मुकाबला वही कर सकता है जो अपने उसूल और अपनी बात पर कायम रह सकता हो, लाल टोपी जेब में रखने से कोई नेता नहीं बनता. आयार्च प्रमोद ने ये ट्वीट किया जिसके बाद ट्वीटर पर बहस छिड़ गई और सपा के नेताओं ने भी जमकर जवाबी कार्रवाई की.

    सपा की पूर्व मंत्री जूही सिंह ने ट्वटी किया कि आचार्य से ऐसी परिपक्व टिप्पणी की उम्मीद नहीं थी. वर्तमान राजनीतिक विमर्श के नित्य गिरते हुए स्तर को सहर्ष स्वीकार करने के लिए मुबारक. जूही सिंह के इस ट्वीट के बाद सपा नेताओं ने आचार्य पर जमकर हमला बोला और ट्वीटर पर जंग छिड़ती दिखी.



    लगता है रास्ता भटक गए हैं
    आचार्य के इस ट्वीट के बाद सपा नेता अनुराग भदौरिया ने भी ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि लगता है आप रास्ता भटक गए हैं, कहीं किसी टीम के सदस्य तो नहीं बन गए हैं. आचार्य के इस ट्वीट के बाद सपा नेताओं में खासा रोष देखा जा रहा है ओर वे खुलकर इसका विरोध कर रहे हैं. सपा के प्रवक्ता आईपी सिंह ने कहा कि आपकी सपा से गठबंधन से चाह किसी से छुपी नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि गाजियाबाद में जिस के चरित्र चित्रण की आज तक चर्चा है उसके मुंह से सस्ते तंज शोभा नहीं देते हैं.

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Acharya Pramod Krishnam, Akhilesh yadav, Lucknow news, Samajwadi party, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर