अनंतनाग आतंकी हमले में शहीद हुए यूपी के दो लाल, CM योगी ने किया मुआवजे का ऐलान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जवानों की शहादत पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने दोनों शहीदों के परिजनों को 25-25 लाख रुपए की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 13, 2019, 2:48 PM IST
अनंतनाग आतंकी हमले में शहीद हुए यूपी के दो लाल, CM योगी ने किया मुआवजे का ऐलान
शामली के सतेंद्र कुमार और गाजीपुर के महेश कुशवाहा
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 13, 2019, 2:48 PM IST
जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में हुए आतंकी हमले में यूपी के दो लाल शहीद हो गए गाजीपुर के जैतपुरा गांव के रहने वाले सीआरपीएफ जवान महेश कुमार कुशवाहा और शामली के सतेंद्र कुमार शहीद हो गए. मौत की खबर मिलते ही दोनों परिवारों में मातम का माहौल है. घर में कोहराम मचा हुआ है.

किसान के बेटे थे शहीद महेश कुशवाहा



शहीद महेश कुशवाहा सीआरपीएफ की 116वीं बटालियन में कांस्टेबल के पद पर तैनात थे. इन दिनों जम्मू काश्मीर में उनकी तैनाती थी. अनंतनाग में आतंकी हमले के दौरान आतंकवादियों से लोहा लेते हुए सीआरपीएफ जवान महेश कुशवाहा शहीद हो गए. उनकी शहादत की खबर से गांव में गम का माहौल है. गुरुवार देर रात शहीद जवान का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव जैतपुरा पहुंचेगा. जवान की शहादत की खबर मिलते ही बड़ी संख्या में लोग शोककुल परिवार को सांत्वना देने पहुंच रहे हैं.

गाजीपुर की सदर तहसील के जैतपुरा गांव के किसान गोऱखनाथ कुशवाहा के बेटे महेश कुशवाहा सीआरपीएफ में वर्ष 2009 में कांस्टेबल के पद पर भर्ती हुए थे. बेहद सरल, सहज और मिलनसार स्वाभाव के महेश के दिल में देश भक्ति का जज्बा कूट-कूट कर भरा हुआ था. देश सेवा करते हुए सीआरपीएफ जवान महेश अनंतनाग में आतंकी हमले के दौरान आतंकवादियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए.

पिता अस्पताल में भर्ती

महेश का विवाह वर्ष 2010 में निर्मला देवी के साथ हुआ था.शहीद का एक पांच वर्षीय बेटा आदित्य जबकि 3 वर्षीया बेटी आर्या है. जवान की शहादत की खबर पाकर उनकी पत्नी सदमे में है. उन्हे इलाज के लिए अस्पताल में भर्त्ती कराया गया है. जबकि दिल की बीमारी से पीड़ित उनके पिता पिछले कई दिनों से इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती है.

दो मासूम बेटों को छोड़ कर गए हैं शहीद सतेंद्र
Loading...

शामली जनपद के कांधला थाना क्षेत्र के गांव किवाना का रहने जवान सतेंद्र कुमार ने वर्ष 2010 में सीआरपीएफ ज्वाइन की थी. पिछले ढाई वर्षों से शहीद सतेंद्र कुमार की तैनाती जम्मू के अनंतनाग में थी, जहां पर बीती रात आतंकी हमला हुआ. जिसमें सीआरपीएफ सेना के पांच जवान शहीद हो गए. जिनमे से एक लाल शामली का सतेंद्र कुमार भी शामिल है. सतेंद्र के पिता का नाम मनीराम है. सतेंद्र कुमार के तीन भाई व 2 बहन है. सतेंद्र के परिवार में उनका एक 4 वर्ष का बेटा व दूसरा बेटा 2 वर्ष का है. बड़े बेटे का नाम दीपांशु है व छोटे बेटे का नाम वाशु. मौत की सूचना से परिजनों में कोहराम मच गया.

शहीद की पिता मनीराम की शासन से अपील है कि आतंकवाद का खत्मा होना चाहिए ताकि आगे किसी माँ का लाल आतंकी के हाथों ने मारा जाए.

मुख्यमंत्री ने किया मदद का ऐलान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जवानों की शहादत पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने दोनों शहीदों के परिजनों को 25-25 लाख रुपए की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है.

ये भी पढ़ें: आगरा: यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव को साथी वकील ने मारी गोली, मौत

दरवेश यादव ने दो दिन पहले ही यूपी बार काउंसिल में रचा था इतिहास

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...