इलाहाबाद: बीटीसी पेपर लीक मामले में दो लोग गिरफ्तार

इस परीक्षा के सभी प्रश्न-पत्र लीक हो गये थे, जिसे विभिन्न लोगों द्वारा कई लोगों को व्हाट्सएप आदि के माध्यम से उपलब्ध कराया गया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 13, 2018, 9:20 PM IST
इलाहाबाद: बीटीसी पेपर लीक मामले में दो लोग गिरफ्तार
बीटीसी पेपर लीक मामला (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: October 13, 2018, 9:20 PM IST
उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट (बीटीसी) का प्रश्न-पत्र लीक होने के मामले में शनिवार को दो लोगों को इलाहाबाद में गिरफ्तार कर लिया गया.

एसटीएफ की ओर से जारी बयान के मुताबिक गत आठ अक्टूबर को होने वाली बीटीसी प्रशिक्षण-2015 के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा का पर्चा इम्तेहान के एक दिन पहले ही लीक होने के मामले में आशीष अग्रवाल और अरविन्द भार्गव नामक व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया. उन्हें कौशाम्बी जिले की पुलिस के सुपुर्द किया गया जहां यह पेपर लीक हुआ था.

यूपी में 4 IPS अफसरों के तबादले, जोगेंद्र कुमार बने फैजाबाद के एसएसपी

बयान के मुताबिक पेपर लीक होने की सूचना पर एसटीएफ ने गत 11 अक्टूबर को कौशाम्बी और इलाहाबाद जाकर पड़ताल की थी. इस दौरान पाया गया कि इस परीक्षा के सभी प्रश्न-पत्र लीक हो गये थे, जिसे विभिन्न लोगों द्वारा कई लोगों को व्हाट्सएप आदि के माध्यम से उपलब्ध कराया गया था.

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने किया इलाहाबाद हाईकोर्ट में नए भवन का लोकार्पण

जांच के दौरान पाया गया कि प्रश्न-पत्रों को छापने एवं परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचाने के लिये पिछले कई वर्षों से इलाहाबाद स्थित दीप्ति इण्टरप्राइजेज को अधिकृत किया जाता रहा है. बीटीसी-2015 के चतुर्थ सेमेस्टर के मामले में भी उसे यह जिम्मेदारी दी गयी थी. गिरफ्तार अभियुक्त आशीष अग्रवाल इसका सारा काम सम्भालता है.

पहले मायावती का बंगला, अब शिवपाल यादव को जेड-प्लस सुरक्षा देने की तैयारी में आदित्यनाथ
Loading...

पड़ताल में यह भी पाया गया कि दीप्ति इण्टरप्राइजेज प्रश्न-पत्रों को छापने का सारा काम भार्गव प्रेस से कराता था. अरविन्द भार्गव इस प्रेस का मालिक है. दीप्ति इण्टरप्राइजेज और भार्गव प्रेस के निरीक्षण और संबंधित लोगों से पूछताछ से पता चला कि इन प्रिन्टिग प्रेसों में सुरक्षा के कोई भी मानक लागू नहीं किये गये थे और वहां काम करने वाला कोई भी व्यक्ति प्रश्नपत्रों की फोटो खींचकर वायरल कर सकता था. इसी आधार पर आशीष अग्रवाल और अरविन्द भार्गव को गिरफ्तार किया गया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर