हिजबुल आतंकी के मददगारों को असम पुलिस ने किया गिरफ्तार

बताया जा रहा है कि कमरुज्जमा कानपुर में गणेश चतुर्थी के मौके पर बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में था. गिरफ्तार हिजबुल मुजाहिदीन एके 47 का इंतजार कर रहा था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 16, 2018, 10:05 AM IST
हिजबुल आतंकी के मददगारों को असम पुलिस ने किया गिरफ्तार
(सांकेतिक तस्वीर)
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 16, 2018, 10:05 AM IST
कानपुर से गिरफ्तार हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी कमरुज्जमा उर्फ डॉ. हुरैरा के दो साथियों को असम पुलिस ने मेघालय बॉर्डर से गिरफ्तार किया है. दोनों आरोपियों की पहचान शोदोल आलम और उमर फारुख के रूप में हुई. यूपी एटीएस के अधिकारियों के मुताबिक फारुख ने आतंकी कमरुज्जमा को मेघालय में मकान किराए पर दिलवाया था. वहीं शोदोल आलम एके-47 हथियार मुहया करने की कोशिश कर रहा था. यूपी एटीएस के अधिकारियों ने हिजबुल आतंकी कमरुज्जमा के ब्लैकबेरी मैसेज को डिकोड कर लिया है.

ये भी पढ़ें: कानपुर: हिज्बुल मुजाहिदीन का आतंकी गिरफ्तार, गणेश चतुर्थी पर थी हमले की योजना

बताया जा रहा है कि कमरुज्जमा कानपुर में गणेश चतुर्थी के मौके पर बड़ी वारदात  को अंजाम देने की फिराक में था. गिरफ्तार हिजबुल मुजाहिदीन एके 47 का इंतजार कर रहा था. बता दें कि यूपी एटीएस की टीम असम में डेरा डाली हुई है. एटीएस को दो युवकों की तलाश है जिन्होंने हिजबुल आतंकी को कानपुर पैसा भेजा था.

ये भी पढ़ें: गणेश उत्सव पर कानपुर को दहलाने के लिए हिज्बुल ने भेजा था आतंकी कमर!

हुरैरा 2008 से 2012 तक फिलीपींस के पास पलाउ गणराज्य में रह रहा था. एक बेटे के पिता हुरैरा का विवाह वर्ष 2013 में असम में ही हुआ था. गौरतलब है कि यूपी एटीएस और कानपुर नगर पुलिस ने चकेरी थानाक्षेत्र में असम निवासी हुरैरा नामक हिजबुल आतंकवादी को गिरफ्तार किया था. इस ऑपरेशन में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) का भी सहयोग मिला था.

(रिपोर्ट: ऋषभ मणि त्रिपाठी)

यह भी पढ़ें:

आगरा: जूनियर डाॅक्टरों की गुंडागर्दी, बार में तोड़फोड़ के बाद ठप की इमरजेंसी सेवाएं

गाजियाबाद: पुलिस के हत्थे चढ़ा 50 हजार का इनामी अजमल पहाड़ी

मैनपुरी से मुलायम सिंह को सेक्युलर मोर्चा का उम्मीदवार बनाने की पेशकश

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर