MP कैबिनेट विस्तार पर उमा भारती का बड़ा बयान, बोलीं- मैंने हाईकमान को संदेश भेजा था, लेकिन मेरी सुनी नहीं गई
Bhopal News in Hindi

MP कैबिनेट विस्तार पर उमा भारती का बड़ा बयान, बोलीं- मैंने हाईकमान को संदेश भेजा था, लेकिन मेरी सुनी नहीं गई
शिवराज कैबिनेट विस्‍तार से नाराज हैं उमा भारती .

भाजपा नेता और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार (Shivraj Cabinet Expansion) पर कहा है कि मैंने जातीय असंतुलन को लेकर केंद्र एवं मध्यप्रदेश के नेताओं को संदेश भेजा था.

  • Share this:
लखनऊ. भाजपा नेता और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने कहा कि उन्होंने प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के मंत्रिपरिषद विस्तार के संबंध में पार्टी नेताओं को संदेश भेजा था. जबकि उन्‍होंने शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार (Shivraj Cabinet Expansion)पर जातीय असंतुलन को लेकर पार्टी नेतृत्व के समक्ष ‘सैद्धांतिक असहमति’ का इजहार किया है और मांग की है कि मंत्रिमंडल की सूची को संतुलित किया जाये. अयोध्या स्थित ढ़ांचा विध्वंस मामले में अपना बयान दर्ज कराने लखनऊ पहुंची उमा भारती ने यह बात न्यूज़ 18 से कही. आपको बता दें कि चौहान ने गुरुवार को मंत्रिपरिषद का विस्तार करते हुए 28 नए सदस्यों को शामिल किया इनमें से 12 विधायक पूर्व में कांग्रेस में थे.

उमा भारती ने ट्वीट कर कही ये बात
उमा भारती ने ट्वीट किया, 'मैं आज लखनऊ में राम जन्मभूमि मामले में सीबीआई की विशेष अदालत में प्रस्तुत हुई. आज सवेरे मध्य प्रदेश मंत्रिपरिषद के विस्तार की खबर मैंने लखनऊ में टीवी पर देखी थी. उन्होंने कहा, 'मैंने उस पर बयान तो नहीं दिया, ना ही कोई चिट्ठी लिखी, परन्तु केंद्र एवं मध्यप्रदेश के नेताओं को संदेश भेजा था.' उमा ने आगे लिखा, 'मैंने तो आज के मंत्रिपरिषद विस्तार में सामाजिक समीकरण साधने की बात की थी. भाजपा के सभी कार्यकर्ता मेरे हैं और मैं उनकी हूं.' उन्होंने कहा, 'मेरी बाते मेरे अहम से सम्बंधित नहीं थी. मैं ज्योतिरादित्य सिंधिया महाराज के भाजपा में आने से और प्रदेश में कांग्रेस (सरकार) के ध्वस्त होने से बहुत ख़ुश हूं. शिवराज के मुख्यमंत्री बनने से भी मुझे बहुत ख़ुशी हुई है और मैं मानती हूं कि भाजपा (मध्यप्रदेश में होने वाले आगामी) विधानसभा उपचुनावों में चौबीसों सीटें जीतेगी.'

उमा ने अगले ट्वीट में लिखा, 'लॉकडाउन के पहले और फरवरी के अंत में जब मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने को आ गयी, तभी से मेरा यह मत था की विधानसभा भंग कराके शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में चुनाव होना चाहिये. इन 24 सीटों को जीतने के लिए हम जितना प्रयास करेंगे उतने में हम पूरा प्रदेश जीत जाते.





शिवराज पर जताया भरोसा
उमा भारती ने कहा कि जब फरवरी में कांग्रेस सरकार गिरने वाली थी तभी से मेरा मत था  कि विधानसभा भंग कराकर शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में चुनाव होना चाहिए. इन 24 सीटों को जीतने में जितना जोड़ लगाएंगे उतना में हम पूरा प्रदेश जीत जाएंगे. सीबीआई कोर्ट में बयान दर्ज कराने पहुंची उमा भारती ने कहा कि वो राम भक्त हैं और राम के लए काम करना अच्छा लगता है. लखनऊ प्रवास में वो अयोध्या रामलला का दर्शन करने भी गयीं. उन्होंने कहा कि दर्शन करके जो अनुभूति हुई उसको शब्दों में नहीं बयां किया जा सकता.

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading