होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Lucknow News: न नगद-न उधार, लखनऊ के इस 'मॉल' में सजा है फ्री कपड़ों का बाजार

Lucknow News: न नगद-न उधार, लखनऊ के इस 'मॉल' में सजा है फ्री कपड़ों का बाजार

इस अनोखे मॉल की पहल की है लखनऊ के रहीम नगर के ही रहने वाले डॉ. अहमद रजा खान ने. अब यहां जरूरतमंद लोग आते हैं और फ्री मे ...अधिक पढ़ें

    लखनऊ/अंजलि सिंह राजपूत

    आपने लखनऊ के कई बड़े शॉपिंग मॉल तो खूब घूमे होंगे, वहां से खरीदारी भी की होगी लेकिन क्या आपको पता है कि लखनऊ में एक ‘अनोखा मॉल’ भी खुल चुका है जहां पर जरूरतमंदों को निशुल्क कपड़े दिए जाते हैं.

    सब्जी बेचने वाले, ऑटो रिक्शा चालक या सड़क पर रहने वाले गरीब या कोई भी जो आर्थिक रूप से कमजोर है वह यहां जाकर अपने साथ-साथ अपने परिवार के सदस्यों के लिए भी निशुल्क कपड़े ले सकता है. अपनी पसंद से ले सकता है उसे रोका नहीं जाता है.

    आपके शहर से (लखनऊ)

    इस अनोखे मॉल की अनोखी पहल की है लखनऊ के रहीम नगर के ही रहने वाले डॉ. अहमद रजा खान ने. इस अनोखे मॉल की प्रभारी रेशमा ने बताया कि आज से करीब 6 साल पहले डॉक्टर अहमद रजा खान ने अपने घर के पुराने कपड़ों को निकालकर घर के बाहर रख दिया था. उन्होंने देखा कि जरूरतमंद एक-एक करके कपड़े उठाकर लेकर जा रहे हैं. यहीं से उन्हें यह आइडिया आया कि क्यों न एक सम्मानजनक तरीके से कपड़ों को सजा कर यहां पर जरूरतमंदों को दिया जाए.

    लोग दान कर जाते हैं कपड़े

    इस अनोखे मॉल में लखनऊ भर से लोग अपने कपड़ों को यहां दान करते हैं. कोई पुराने कपड़े दान कर जाता है तो कोई नए कपड़ों को भी यहां दान कर जाता है. सभी कपड़ों को जरूरतमंदों को बांट दिया जाता है.

    सर्दियों में खास तौर पर यह अनोखा मॉल लगाया जाता है ताकि किसी भी मौत सर्दी की वजह से न हो. यहां पर गर्म कपड़े और सूती कपड़े भी दिए जाते हैं. सब कुछ निशुल्क होता है. यह मॉल दिसंबर जनवरी फरवरी तीन महीने तक सुबह दस बजे से शाम सात बजे तक खुला रहता है. यह रहीम नगर की मुख्य सड़क पर ही बना हुआ है.

    अगर आप भी अपने घर के पुराने कपड़े या फिर नए कपड़ों को दान करना चाहते हैं तो इस जगह जाकर कर सकते हैं. हो सकता है आपके दान किए हुए कपड़ों से किसी के चेहरे पर मुस्कान आ जाए.

    पूरा स्टॉक हो गया खत्म

    दिसंबर से लेकर अब तक यहां पर जरूरतमंदों ने खूब खरीदारी की है. यही वजह है कि अब यहां का पूरा स्टॉक खत्म हो गया है. फरवरी के दूसरे या तीसरे हफ्ते में इसे बंद कर दिया जाएगा और फिर अगले साल इसे खोला जाएगा.

    Tags: Lucknow news, Up news in hindi

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें