उन्नाव रेप कांड: आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की होगी तीस हजारी कोर्ट में पेशी

सुप्रीम कोर्ट ने उन्‍नाव गैंगरेप से जुड़े सभी पांच मामलों को दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में ट्रांसफर करने का आदेश दिया है. साथ ही मामले की सुनवाई 45 दिनों में खत्‍म करने का निर्देश दिया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 5, 2019, 8:06 AM IST
उन्नाव रेप कांड: आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की होगी तीस हजारी कोर्ट में पेशी
पेशी के लिए दिल्ली रवाना होते आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 5, 2019, 8:06 AM IST
सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद बीजेपी से निष्कासित बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर शिकंजा कसता जा रहा है. उन्नाव रेप कांड में सोमवार को आरोपी विधायक सेंगर और उनकी सहयोगी शशि सिंह दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पेश होंगे. सेंगर और शशि सिंह को रविवार शाम सीतापुर जेल से दिल्ली ले जाया गया.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले से जुड़े सभी पांच केस को दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में ट्रांसफर करने का आदेश देते हुए मामले की पूरी सुनवाई 45 दिनों में करने का निर्देश दिया है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद से ही सीबीआई भी हरकात में आ गई है.

‘ईश्वर से प्रार्थना करूंगा कि पीड़िता और वकील स्वस्थ हो जाएं’

दिल्ली जाते वक्त मीडिया से बातचीत में आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा है कि उन्हें फंसाया जा रहा है. पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाए. विपक्षी पार्टी को निशाना बनाते हुए सेंगर ने कहा कि व‍ह ईश्वर से प्रार्थना करेंगे कि पीड़िता और वकील जल्‍द स्वस्थ हो जाएं. विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने मीडिया से अपील की है कि वह सही चीज दिखाए.

इससे पहले रविवार सुबह 9 बजे से ही सीबीआई की 26 सदस्यीय टीम ने उन्नाव में डेरा जमा दिया था. सीबीआई के 22 अधिकारियों ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के माखी स्थित आवास को कब्जे में लेकर उसकी गहन तलाशी ली. वहीं, तलाशी के दौरान टीम को एक फाइल मिली, जिससे सूत्र कई अहम सुराग हाथ लगने का दावा कर रहे हैं. सीबीआई की टीम ने माखी गांव में विधायक के आवास पर लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले, जिसके फुटेज की डीबीआर सीबीआई की टीम अपने साथ ले गए. टीम ने विधायक का वो कमरा भी खंगाला जिस कमरे में पीड़िता से गैंगरेप करने के आरोप लगे हैं.

जिंदगी और मौत से जूझ रही है पीड़िता

शहर स्थित विधायक के भाई मनोज सेंगर के आवास पर 4 सदस्यीय टीम ने तलाशी के साथ ही घर पर मौजूद महिला सदस्यों के साथ ही नौकरों से भी गहन पूछताछ की. दो घंटे के बाद सीबीआई की टीम एक फाइल के साथ वापस लौटी. आपको बता दें कि रेप पीड़िता के साथ बीते रविवार को हुए संदिग्ध हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी, जबकि रेप पीड़िता और उसके वकील की हालत एक हफ्ते बाद भी गंभीर बनी हुई है. पीड़िता लखनऊ के केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में जिंदगी और मौत से जूझ रही है. आपको बता दें कि इस संदिग्ध हादसे के बाद रेप पीड़िता के चाचा की तरफ से दी गई तहरीर में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत 10 नामजद लोगों पर एफआईआर दर्ज है.
Loading...

पीड़िता के घायल वकील के घर जाकर दर्ज किए परिजनों के बयान

इसके साथ ही सीबीआई की टीम ने आरोपी विधायक के करीबी विनोद मिश्रा जो कि हादसे में नामित आरोपी हैं, के घर की भी तलाशी ली. वहीं पीड़िता के घायल वकील महेंद्र सिंह के घर जाकर परिजनों के बयान दर्ज किए. सीबीआई की टीम ने गांव के भी कुछ लोगों से बातचीत कर एक नोट शीट बनाई है. इसके अलावा सीबीआई टीम ने गवाहों के भी बयान दर्ज किए हैं. वहीं शाम करीब 4 बजे 26 सदस्यीय सीबीआई टीम वापस लौट गई. आपको बता दें कि पूरे मामले में सोमवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई होनी है, जिसको लेकर सीबीआई ने रविवार को ताबड़तोड़ छापेमारी कर मामले में साक्ष्य जुटाने में पसीना बहाती रही.

ये भी पढ़ें -

उन्नाव गैंगरेप: कुलदीप सिंह को लेकर सीबीआई टीम दिल्ली रवाना

सोनभद्र हत्याकांड: एक्शन में CM योगी, DM और एसपी को हटाया
First published: August 5, 2019, 7:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...