लाइव टीवी

उन्नाव रेप केस में उम्रकैद की सजा काट रहे कुलदीप सिंह सेंगर की विधायकी खत्‍म
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 25, 2020, 9:35 AM IST
उन्नाव रेप केस में उम्रकैद की सजा काट रहे कुलदीप सिंह सेंगर की विधायकी खत्‍म
बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की विधानसभा सदस्‍यता रद्द कर दी गई है. (फाइल फोटो)

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा (UP Assembly) के प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे की ओर से नोटिफिकेशन के मुताबिक सजा के ऐलान के दिन से ही सेंगर की सदस्यता खत्म मानी जाएगी. अब बांगरमऊ विधानसभा सीट पर दोबारा से चुनाव कराना होगा.

  • Share this:
लखनऊ. उन्नाव रेप केस (Unnao Rape Case) में दोषी बांगरमऊ से विधायक रहे कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) की विधानसभा सदस्यता रद्द हो गई है. उन्नाव रेप केस में उम्रकैद की सजा होने के बाद यह कार्रवाई की गई है. प्रमुख सचिव (विधानसभा) प्रदीप कुमार दुबे द्वारा जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक सजा के ऐलान के दिन से ही उनकी सदस्यता खत्म मानी जाएगी. यानी 20 दिसंबर 2019 से बांगरमऊ विधानसभा सीट रिक्त मानी जाएगी. अब इस सीट पर दोबारा से विधानसभा चुनाव होंगे.

बता दें कि उन्नाव रेप केस में दोषी करार दिए जाने के बाद सेंगर उम्रकैद की सजा काट रहे हैं. गौरतलब है कि बीजेपी ने 1 अगस्त 2019 को ही सेंगर को पार्टी से निकाल दिया गया था. अब सेंगर की विधानसभा सदस्यता भी रद्द हो गई है.

कभी नहीं लड़ सकेंगे चुनाव
20 दिसंबर 2019 को दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उम्रकैद की सजा सुनाई थी. इस फैसले के बाद उनकी विधायकी तुरंत खत्म हो गई थी, लेकिन इस बाबत अधिसूचना अब जारी की गई है. इतना ही नहीं, सजायफ्ता होने के बाद सेंगर अब कभी चुनाव भी नहीं लड़ सकेंगे. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने 10 जुलाई 2013 में लिली थॉमस बनाम भारत संघ मामले की सुनवाई करते हुए फैसला दिया था कि अगर कोई विधायक, सांसद या विधान परिषद सदस्य किसी भी अपराध में दोषी पाया जाता है तो और इसके चलते उसे कम से कम दो साल की सजा होती है तो वह तुरंत अयोग्य हो जाएगा यानी जनप्रतिनिधि नहीं रहेगा. अब कुलदीप सिंह सेंगर को चूंकि अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है, लिहाजा उनकी विधायकी तुरंत प्रभाव से चली जाएगी, बल्कि उम्रकैद के कारण वो कभी चुनाव लड़ भी नहीं सकेंगे.



(इनपुट: अजीत सिंह)

ये भी पढ़ें -सपा सांसद आजम खान और उनके परिवार की अग्रिम जमानत याचिका खारिज, ये है मामला
सुन्नी वक्फ बोर्ड ने स्वीकार की अयोध्या में पांच एकड़ जमीन, मस्जिद के साथ बनेगा चैरिटेबल हॉस्पिटल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 9:16 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर