उन्नाव रेप पीड़िता का एक्सीडेंट: जानिए कौन हैं ट्रक ड्राइवर और मालिक, क्या है 'फतेहपुर' कनेक्शन?

मामले में पुलिस की फॉरेंसिक टीम जांच कर रही है. साथ ही ट्रक ड्राइवर, क्लीनर, ट्रक मालिक, विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व उनके साथियों के मोबाइल नंबरों की भी जांच की जा रही है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 29, 2019, 5:47 PM IST
उन्नाव रेप पीड़िता का एक्सीडेंट: जानिए कौन हैं ट्रक ड्राइवर और मालिक, क्या है 'फतेहपुर' कनेक्शन?
इसी ट्रक से उन्नाव रेप पीड़िता के कार की हुई थी आमने-सामने टक्कर
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 29, 2019, 5:47 PM IST
उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट मामले में रायबरेली के गुरुबख्श थाने में जेल में बंद बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर, उसके भाई मनोज सिंह समेत 25 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. मामले में ट्रक ड्राइवर आशीष पाल और उसके मालिक देवेंद्र पाल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. दोनों ही फतेहपुर के रहने वाले हैं. बता दें कुलदीप सिंह सेंगर भी मूल रूप से फतेहपुर जिले के रहने वाले हैं. उन्नाव के माखी थाना क्षेत्र के सराय थोक पर उनका ननिहाल है. वह यहीं आकर बस गए और अपनी सियासी पारी का आगाज भी यहीं से शुरू किया.

मामले एडीजी लखनऊ जोन राजीव कृष्णा ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना रविवार दोपहर एक बजे की है जब उन्नाव रेप पीड़िता की कार और एक ट्रक में आमने-सामने टक्कर हुई. इस हादसे में दो लोगों की मौत हुई है. मामले में पुलिस की फॉरेंसिक टीम जांच कर रही है. साथ ही ट्रक ड्राइवर, क्लीनर, ट्रक मालिक, विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व उनके साथियों के मोबाइल नंबरों की भी जांच की जा रही है. उन्होंने बताया कि यह पता करने की कोशिश हो रही है कि क्या ट्रक ड्राइवर, मालिक, क्लीनर और बीजेपी विधायक व उनके सहयोगियों के बीच किसी तरह की जान पहचान रही है कि नहीं. पुलिस मामले के हर पहलुओं से जांच कर रही है.

बांदा से मोरंग लेकर आया था ट्रक
एडीजी ने बताया ट्रक ड्राइवर और उसके मालिक से पूछताछ हुई है. ड्राइवर के मुताबिक बांदा से मोरंग लेकर वह रायबरेली पहुंचा था. मोरंग की डिलेवरी के बाद वह रायबरेली से फ़तेहपुर जा रहा था. पीड़िता की कार रायबरेली से उन्नाव की तरफ जा रही थी, जिस समय यह हादसा हुआ उस वक्त भारी बारिश हो रही थी. यह टक्कर आमने-सामने हुई है. वहीं ट्रक की नंबर प्लेट पुती हुई होने पर एडीजी ने कहा कि ट्रक मालिक के मुताबिक उसने गाड़ी फाइनेंस करवाई थी और किश्त नहीं चुका रहा था, लिहाजा फाइनेंसर से बचने के लिए उसने ऐसा किया.

गाड़ी में जगह न होने की वजह से साथ नहीं गया गनर
एडीजी ने कहा कि सुरक्षाकर्मी साथ न होने की वजह यह थ कि गाड़ी छोटी थी और पीड़िता ने खुद गनर को साथ आने से मन किया था. उन्होंने कहा कि मामले में सभी एंगल से जांच की जा रही है. ट्रक ड्राइवर, मालिक, विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व उनके सहयोगियों के मोबाइल रिकॉर्ड भी खंगाले जा रहे हैं. यह हादसा है या साजिश इसकी भी तफ्तीश की जा रही है.

ये भी पढ़ें--उन्नाव रेप कांड: एक्सीडेंट को वकील ने बताया संदिग्ध, बोले- पीड़िता के साथ नहीं थे सुरक्षाकर्मी
Loading...

उन्नाव रेप कांड: ट्रक-कार की भिड़ंत में चाची और मौसी की मौत, पीड़िता की हालत गंभीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 29, 2019, 5:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...