Home /News /uttar-pradesh /

UP 2nd Phase Polling: 9 जिलों की 55 सीटों में से ये हैं सबसे हॉट सीट, जानें सियासी गणित

UP 2nd Phase Polling: 9 जिलों की 55 सीटों में से ये हैं सबसे हॉट सीट, जानें सियासी गणित

UP Assembly Elections: दूसरे चरण में भी इन सीटों पर दिखेगी कड़ी टक्कर

UP Assembly Elections: दूसरे चरण में भी इन सीटों पर दिखेगी कड़ी टक्कर

UP Chunav 2022: दूसरे चरण में रामपुर की सीट सबसे ज्यादा चर्चा में है, क्योंकि यहां से सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी से आजम खान तो जेल से छूटकर आए उनके बेटे अब्दुल्ला आजम पर सबकी नजर हैं. अब्दुल्ला आजम स्वार सीट से मैदान में हैं. इसके अलावा अमरोहा, बरेली, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, सहारनपुर, बिजनौर, संभल और बदायूं जिलेपर भी सबकी नजर है.

अधिक पढ़ें ...

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Vidhan Sabha Chunav) में दूसरे चरण का मतदान (UP 2nd Phase Polling) 14 फरवरी को होगा. पश्चिम यूपी के 9 जिलों की 55 सीटों पर मतदान होगा. इस चरण में कुल 586 प्रत्याशी मैदान में हैं. सबसे ज्यादा बरेली के कैंट, मुरादाबाद के कांठ और शाहजहांपुर सीट से 15-15 प्रत्याशी मैदान में हैं. दूसरे चरण में रामपुर की सीट सबसे ज्यादा चर्चा में है, क्योंकि यहां से सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी से आजम खान तो जेल से छूटकर आए उनके बेटे अब्दुल्ला आजम पर सबकी नजर हैं. अब्दुल्ला आजम स्वार सीट से मैदान में हैं. इसके अलावा अमरोहा, बरेली, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, सहारनपुर, बिजनौर, संभल और बदायूं जिलेपर भी सबकी नजर है.

    अगर 2017 की बात करें तो दूसरे चरण में जिन 55 सीटों पर मतदान होना है, उनमें से ज्यादातर पर बीजेपी का कब्जा था. इन सभी सीटों पर अगर आंकड़ों की बात जाए तो एक बार फिर से मुस्लिम और दलित निर्णयाक भूमिका में रहेंगे. सभी 55 सीटों में बीजेपी ने 2017 में 38 सीटों पर जीत दर्ज की थी. 15 सीटों पर सपा और दो पर कांग्रेस उम्मीदवारों की जीत हुई थी. समाजवादी पार्टी ने जिन 15 सीटों पर जीत दर्ज की थी, उसमें से 10 मुस्लिम उम्मीदवार जीतकर विधानसभा पहुंचे थे.

    इन 10 सीटों पर रहेगी सबकी नजर 

    रामपुर: दो साल से सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान रामपुर से चुनाव मैदान में हैं. आजम खान के खिलाफ बीजेपी ने आकाश सक्सेना, बसपा ने सदाकत हुसैन और कांग्रेस ने काजिम अली खान को उम्मीदवार बनाया है. इसके अलावा उनके बेटे अब्दुल्ला आजम भी स्वार सीट से मैदान में हैं.

    नकुड़: सहारनपुर जिले की नकुड़ विधासनभा सीट इस बार हाईप्रोफाइल हो गई है. यहां से बीजेपी के बागी मंत्री धर्म सिंह सैनी समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. धर्म सिंह सैनी अब तक वह चार बार विधायक रह चुके हैं. सैनी के खिलाफ बीजेपी ने मुकेश चौधरी को मैदान में उतारा है. बसपा से साहिल खान और कांग्रेस से रणधीर सिंह चौहान यहां से प्रत्याशी हैं.

    शाहजहांपुर :  योगी सरकार में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना इस सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. सुरेश खन्ना 1989 से इस सीट पर लगातार चुनाव जीतते आ रहे हैं. खन्ना आठ बार यहां से चुनाव जीत चुके हैं. शाहजहांपुर विधानसभा में करीब तीन लाख 59 हजार मतदाता हैं. इस बार खन्ना के खिलाफ सपा ने तनवीर खान, बसपा ने सर्वेश चंद्र धांधू और कांग्रेस ने पूनम को उम्मीदवार बनाया है.

    आंवला: बरेली की आंवला विधानसभा सीट पर इस बार मुकाबला काफी चर्चा में है. यहां बीजेपी से मौजूदा विधायक धर्मपाल सिंह एक बार फिर से भरोसा जताया है. वहीं बिल्सी से 2017 में बीजेपी से चुनाव जीते विधायक राधा कृष्ण शर्मा इस बार समाजवादी पार्टी के टिकट पर मैदान में हैं. धर्मपाल सिंह चार बार, तो शर्मा दो बार विधायक रह चुके हैं. बसपा ने यहां से लक्ष्मण प्रसाद और कांग्रेस ने ओमवीर यादव को टिकट दिया है.

    बिलासपुर: रामपुर जनपद की बिलासपुर विधानसभा सीट भी हॉट सीट में से एक है. यहां से मौजूदा विधायक और योगी सरकार में जल शक्ति राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख फिर से चुनाव लड़ रहे हैं. बलदेव सिंह योगी कैबिनेट में इकलौते सिख मंत्री हैं. बलदेव के खिलाफ समाजवादी पार्टी ने अमरजीत सिंह, बसपा ने राम अवतार कश्यप, कांग्रेस ने संजय कपूर को टिकट दिया है.

    चंदौसी: संभल के चंदौसी सीट से बीजेपी ने एक बार फिर योगी सरकार में माध्यमिक शिक्षा राज्यमंत्री गुलाबो देवी को टिकट दिया है. उनके खिलाफ समाजवादी पार्टी ने विमलेश कुमारी और बसपा ने रणविजय सिंह को मैदान में उतारा है. कांग्रेस की तरफ से मिथिलेश कुमारी को टिकट मिला है.

    कुंदरकी: मुरादाबाद की कुंदरकी सीट भी इस बार चर्चा में है. यहां से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के पोते जियाउर्रहमान को सपा ने टिकट दिया है. इस सीट से अभी तक सपा के विधायक रहे हाजी रिजवान टिकट कटने के बाद बसपा में शामिल हो गए. अब बसपा ने उन्हें यहां से उम्मीदवार बनाया है. बीजेपी ने कमल प्रजापति और कांग्रेस ने दरकशा बेगम को अपना उम्मीदवार बनाया है.

    तिलहर: शाहजहांपुर की तिलहर सीट पर भी सभी की निगाहें हैं. समाजवादी पार्टी ने बीजेपी के बागी विधायक रोशन लाल वर्मा पर दांव खेला है. रोशन लाल ही स्वामी प्रसाद मौर्य का इस्तीफा लेकर राजभवन पहुंचे थे. बीजेपी ने इस बार यहां से सलोना कुशवाहा और बसपा ने नवाब फैजान अली खान को मैदान में उतारा है. कांग्रेस ने रजनीश गुप्ता ताल थोक रहे हैं.

    अमरोहा: इस सीट से समाजवादी पार्टी सरकार में मंत्री रहे महबूब अली फिर से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. महबूब अली के खिलाफ बीजेपी ने राम सिंह, बसपा ने मोहम्मद नवैद अयाज और कांग्रेस ने सलीम खान को अपना उम्मीदवार बनाया है.

    Tags: UP Assembly Elections, Uttar Pradesh Assembly Elections

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर