Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav: घोषणा पत्र के बिना ही सभी दलों ने लगाई सियासी वायदों की झड़ी, जानें कौन सी पार्टी क्या देगी

UP Chunav: घोषणा पत्र के बिना ही सभी दलों ने लगाई सियासी वायदों की झड़ी, जानें कौन सी पार्टी क्या देगी

UP Assembly Elections:  सियासी दल ने  घोषणा पत्र जारी नहीं किया है.

UP Assembly Elections: सियासी दल ने घोषणा पत्र जारी नहीं किया है.

Uttar Padesh Vidhan Sabha Chunav: ऐसा लगता है कि जाति और सम्प्रदाय के फेर में ये रिवाज़ उनके दिमाग से ही उतर गया है. लेकिन, NEWS 18 आपको इससे पहले ही बता रहा है कि कौन सी पार्टी ने अभी तक कौन सा वायदा किया है. बीजेपी को छोड़कर बाकी सभी पार्टियों ने टुकडों-टुकड़ों में अपने-अपने वायदे पेश किये हैं. सबसे पहले बात करते हैं समाजवादी पार्टी की. इसे ही इस बार के चुनाव में मुख्य विपक्षी के रूप में देखा जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. यूपी में विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections 2022) का आगाज़ हो गया है. पहले चरण के लिए नामांकन भी शुरु हो गया लेकिन, अभी तक राजनीतिक दलों के घोषणापत्र (Manifesto) का जनता को इंतजार ही है. कुछ पार्टियों ने टुकड़ों में वायदे तो किये हैं लेकिन, औपचारिक तौर पर अभी तक किसी भी पार्टी ने घोषणापत्र जारी करने की ज़हमत नहीं उठायी है. ऐसा लगता है कि जाति और सम्प्रदाय के फेर में ये रिवाज़ उनके दिमाग से ही उतर गया है. लेकिन, NEWS 18 आपको इससे पहले ही बता रहा है कि कौन सी पार्टी ने अभी तक कौन सा वायदा किया है. बीजेपी को छोड़कर बाकी सभी पार्टियों ने टुकडों-टुकड़ों में अपने-अपने वायदे पेश किये हैं. सबसे पहले बात करते हैं समाजवादी पार्टी की. इसे ही इस बार के चुनाव में मुख्य विपक्षी के रूप में देखा जा रहा है.

समाजवादी पार्टी
भले ही सपा ने अभी तक अपना घोषणापत्र जारी नहीं किया है, लेकिन वायदों की झड़ी जरूर लगा दी है. सपा ने 300 यूनिट तक बिजली फ्री देने का वायदा किया है. वायदा ये भी किया गया है कि सरकार बनने के तुरंत बाद 10 लाख नौजवानों को नौकरी दी जाएगी. ऐसा सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में किया जाएगा. 2022 में सपा की सरकार बनने पर फ्री लैपटॉप योजना शुरू की जाएगी. इसके अलावा समाजवादी पेंशन योजना की धनराशि 500 से बढ़ाकर 1500 कर दी जाएगी. इसके अलावा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओम प्रकाश राजभर ने भी कुछ वायदे किये थे. अब वे सपा के साथ हैं. राजभर ने कहा था कि सरकार बनने पर एमए तक सबको मुफ्त शिक्षा के साथ ही महिलाओं को राजनीति और नौकरियों में 50 फीसदी आरक्षण दी जायेगी. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के शिवपाल यादव अब सपा के सिंबल पर ही चुनाव लड़ेंगे लेकिन, उन्होंने भी अपनी रैलियों में कई वायदे किये थे. शिवपाल यादव ने एलान किया था कि बीए पास सभी लड़के-लड़कियों को 5 लाख रुपये सरकार देगी. कौशाम्बी में बोलते हुए शिवपाल ने कहा कि हाथ में बीए का सर्टिफिकेट आते ही सरकार 5 लाख रुपये दे देगी.

बहुजन समाज पार्टी
2022 में सरकार बनने पर बसपा भी बहुत कुछ करेगी. इसका खुलासा खुद मायावती ने तब किया था, जब उन्होंने लखनऊ में ब्राह्मण सम्मेलन को संबोधित किया था. तब मायावती ने कहा था कि सरकारी संस्कृत विद्यालयों को सरकारी धनराशि उपलब्ध करायी जाएगी. खाली पड़े सभी पदों को भरा जाएगा. वित्तविहीन प्रबंधक एवं शिक्षक महासभा की मांगों पर आयोग का गठन किया जाएगा और उसकी रिपोर्ट के आधार पर पात्र शिक्षकों और कर्मचारियों को सम्मानजनक मानदेय देने की व्यवस्था की जाएगी. साथ ही उनके लिए सेवा नियमावली भी बनाई जाएगी.

कांग्रेस के वायदे
प्रियंका गांधी ने पहले तो 40 फीसदी सीटों पर महिलाओं को टिकट देने का एलान किया. साथ ही कहा है कि यदि 2022 में कांग्रेस की सरकार बनती है तो इंटर पास लड़कियों को फ्री में स्मार्टफोन और बीए पास लड़कियों को फ्री में इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी दी जाएगी.

आम आदमी पार्टी
आम आदमी पार्टी ने अभी तक कुल कई बड़े वायदे किये हैं. 300 यूनिट तक घरेलू बिजली फ्री, पुराना बिजली बकाया माफ, किसानों की बिजली पूरी फ्री, रजिस्टर्ड बेरोजगारों को नौकरी मिलने तक 5000 रूपया महीने का भत्ता और 18 साल से उपर की सभी महिलाओं को हर महीने 1000 रूपया.

बीजेपी
बीजेपी की ओर से अभी कोई बड़ा वायदा नहीं किया गया है. पार्टी के संकल्प पत्र का सभी को इंतजार है. ये भी सच्चाई है कि पिछले कई चुनावों से पार्टियां देर से ही अपना घोषणापत्र जारी करती रही हैं. 2017 में बीजेपी ने 28 जनवरी और सपा ने 22 जनवरी को अपना घोषणापत्र जारी किया था.

Tags: BJP, BSP, Samajwadi party, UP Assembly Elections, Uttar Pradesh Assembly Elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर