होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

जैश-ए-मुहम्मद से जुड़ा खूंखार आतंकी यूपी से गिरफ्तार, 15 अगस्त से पहले देश को दहलाने की साजिश नाकाम

जैश-ए-मुहम्मद से जुड़ा खूंखार आतंकी यूपी से गिरफ्तार, 15 अगस्त से पहले देश को दहलाने की साजिश नाकाम

आतंकी नदीम ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान के संगठन के आतंकी ने उसे नूपुर शर्मा की हत्या करने का टास्क भी दिया था.

आतंकी नदीम ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान के संगठन के आतंकी ने उसे नूपुर शर्मा की हत्या करने का टास्क भी दिया था.

UP News: यूपी एटीएस को सेंट्रल एजेंसियों से जानकारी मिली थी कि जिला सहारनपुर के गांव में एक व्यक्ति जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा है. इस संवेदनशील सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुए मुहम्मद नदीम की पहचान करते हुए उससे पूछताछ की गयी. उसके पास मिले मोबाइल फ़ोन का प्राथमिक अवलोकन किया गया, जिसमें एक पीडीएफ डॉक्यूमेंट पाया गया, जिसका शीर्षक एक्स्पोसिव कोर्स फिदायीन फोर्स था.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मुहम्मद नदीम ने बताया गया कि उसे अफगानिस्तान व पकिस्तान में आतंकवादी स्पेशल ट्रेनिंग दी गई.
वह वीज़ा लेकर पाकिस्तान जाता था और वहां पर जैश-ए-मुहम्मद की आतंकी ट्रेनिंग लेता.
वह मिस्र देश के माध्यम से सीरिया एवं अफगानिस्तान जाने की भी योजना बना रहा था.

लखनऊ. यूपी एटीएस ने 15 अगस्त से ऐन पहले बड़ी कार्रवाई काे अंजाम देते हुए सहारनपुर से खूंखार आतंकी को अरेस्ट किया है. इसके साथ ही देश में बड़ी आतंकी साजिश का पर्दाफाश किया है. यूपी ATS के मुताबिक आतंकी मुहम्मद नदीम जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान, पाकिस्तान (TTP) के आतंकियों से सीधे संपर्क में था. आतंकी किसी सरकारी भवन या बड़ी इमारत में फिदायीन हमले का प्लान बना रहा था.

यूपी एटीएस को सेंट्रल एजेंसियों से जानकारी मिली थी कि ग्राम-कुंडाकलां, थाना- गंगोह, जिला सहारनपुर में एक व्यक्ति जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा है. इस संवेदनशील सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुए मुहम्मद नदीम की पहचान करते हुए उससे पूछताछ की गयी. उसके पास मिले मोबाइल फ़ोन का प्राथमिक अवलोकन किया गया, जिसमें एक पीडीएफ डॉक्यूमेंट पाया गया, जिसका शीर्षक एक्स्पोसिव कोर्स फिदायीन फोर्स था.

इसके अतिरिक्त आतंकी मुहम्मद नदीम के फ़ोन से पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के जैश-ए-मुहम्मद व टीटीपी के आतंकियों से चैट और वाइस मैसेज भी मिले हैं.

2018 से जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान-ए-पाकिस्तान के संपर्क में
मुहम्मद नदीम से उसके मोबाइल फ़ोन में मिले आतंकवादियों के चैट्स और फिदायीन फोर्स के  एक्स्पोसिव कोर्स के संबंध में विस्तृत पूछताछ की गई. उसने बताया कि वह 2018 से जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान-ए-पाकिस्तान के विभिन्न आतंकवादियों से वाट“सएप, टेलीग्राम, आईएमओ, फेसबुक मैसेंजर और क्लब हाउस आदि सोशल मीडिया माध्यमों से संपर्क में था. आतंकवादियों से उसने वर्चुअल नंबर बनाने का प्रशिक्षण प्राप्त किया.

सरकारी भवन अथवा पुलिस परिसर पर करना था फिदायीन हमला
मुहम्मद नदीम द्वारा इन आतंकवादियों को लगभग 30 से अधिक वर्चुअल नंबर, वर्चुअल सोशल मीडिया आईडी बनाकर बनाकर उपलब्ध कराए गए. साथ ही TTP के आतंकी  सैफुल्ला (पाकिस्तानी) द्वारा मुहम्मद नदीम को फिदायीन हमले के लिए तैयार करने के लिए एक्स्पोसिव कोर्स फिदाइन फोर्स का प्रशिक्षण साहित्य सोशल मीडिया के माध्यम से उपलब्ध कराया गया, जिसको मुहम्मद नदीम ने पढ़ा व इससे सम्बंधित सामग्री को इकठ्ठा करने की फ़िराक में था, जिससे वह किसी सरकारी भवन अथवा पुलिस परिसर पर फिदायीन हमला कर सके.

मुहम्मद नदीम ने बताया गया कि उसे अफगानिस्तान व पकिस्तान में सक्रिय जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान, पाकिस्तान के आतंकवादी स्पेशल ट्रेनिंग देने के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे. जिस पर वह वीज़ा लेकर पाकिस्तान जाता तथा वहां पर जैश-ए-मुहम्मद की आतंकी ट्रेनिंग लेता. साथ ही वह मिस्र देश के माध्यम से सीरिया एवं अफगानिस्तान जाने की भी योजना बना रहा था.

नूपुर शर्मा की हत्या का दिया गया था टॉस्क 
अभियुक्त मुहम्मद नदीम के द्वारा स्वीकार किया गया कि पाकिस्तान के JeM के आतंकी ने उसको नूपुर शर्मा की हत्या करने का टास्क भी दिया था. नदीम द्वारा अपने कुछ भारतीय संपर्को की भी जानकारी एटीएस को दी है. जिसपर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गयी है. मुहम्मद नदीम के पास से एक मोबाइल व दो सिम व प्रशिक्षण साहित्य (विभिन्न प्रकार की IED एवं बम बनाने का Fidae Force का) बरामद हुआ है. मुहम्मद नदीम पुत्र नफीस अहमद (उम्र-24/25 वर्ष) ग्राम-कुंडा कला, थाना-गंगोह, जिला-सहारनपुर का निवासी है.

Tags: Jaish-e-Mohammed, Pakistani Terrorist, UP ATS, UP news

अगली ख़बर